नई दिल्ली: केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने मंगलवार को आरोप लगाया कि लंदन में हुए ईवीएम हैकिंग कार्यक्रम का आयोजन कांग्रेस ने किया था, जिसमें एक साइबर विशेषज्ञ ने 2014 आम चुनाव में धांधली होने का दावा किया था. संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कार्यक्रम कांग्रेस द्वारा प्रायोजित था. उन्होंने कहा कि अमेरिका में राजनीतिक शरण की मांग कर रहे एक भारतीय साइबर विशेषज्ञ ने सोमवार को दावा किया था कि ईवीएम के जरिए 2014 चुनाव में धांधली की गई. विशेषज्ञ ने दावा किया कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है.

प्रसाद ने कहा, हम इस दावे का पर्दाफाश करेंगे. कांग्रेस 2014 के जनादेश का अपमान कर रही है. सैयद शुजा के तौर पर पहचाने गए इस शख्स ने लंदन से स्काइप के जरिए संवाददाता सम्मेलन किया. उसने कहा कि अपनी टीम के कुछ सदस्यों की हत्या किए जाने के बाद वह भयभीत महसूस कर रहा था इसलिए 2014 में भारत से भाग आया था.

इससे पहले बीजेपी ने सोमवार को कहा था कि आगामी लोकसभा चुनाव में अपनी संभावित हार के लिये बहाना ढूंढना शुरू कर दिया है. कांग्रेस पर तीखा हमला करता हुए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि लंदन में संवाददाता सम्मेलन के दौरान उसके नेता कपिल सिब्बल का मौजूद रहना संयोग नहीं था. नकवी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी समेत शीर्ष कांग्रेस नेताओं ने सिब्बल को अपने ‘पोस्टमैन’ के रूप में भेजा होगा.

भाजपा नेता ने संवाददाताओं से कहा था, ‘‘इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को हैक नहीं किया जा सकता. यह स्पष्ट है कि भारत विरोधी ताकतों ने कांग्रेस के दिमाग को हैक कर लिया है. लोकसभा चुनाव में हार से पहले हमने कांग्रेस की ओर से आयोजित हैकिंग हॉरर शो को देखा है. वह अपनी आसन्न हार के लिये बहाना ढूंढ रही है. उन्होंने कहा कि ये आरोप भारत को बदनाम करने की कवायद का हिस्सा हैं और लोग इस तरह के प्रयास को कभी स्वीकार नहीं करेंगे.