तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन (Tamil Nadu CM MK Stalin) ने आज शनिवार को कहा कि तमिलनाडु में कोविड-19 के मरीजों के उपचार में इस्तेमाल होने वाली दवा रेमडेसिविर (Remdesivir) की जमाखोरी करने वालों और ज्यादा कीमत पर ऑक्सीजन सिलिंडर (Oxygen Cylinder) बेचने वालों के खिलाफ सख्त गुंडा अधिनियम (Goonda Act) के तहत कार्रवाई की जाएगी. Also Read - NEET 2021 Exam: बोर्ड परीक्षा की तरह NEET 2021 भी हो सकता है कैंसिल, जानें CM ने PM को लेटर में क्या लिखा  

पुलिस को मुख्यमंत्री की तरफ से यह निर्देश कुछ लोगों द्वारा रेमडेसिविर इंजेक्शन की शीशियों को कथित तौर पर ज्यादा कीमत पर बेचने की खबरों और उनकी गिरफ्तारियों के बाद आया है. Also Read - तमिलनाडु सरकार का बड़ा ऐलान-Covid-19 ड्यूटी में लगे सभी मेडिकल स्टाफ को देंगे ये इंसेंटिव, जानिए कितनी

एक बयान में स्टालिन ने कहा कि प्रतिबंधों के कारण आजीविका पर असर पड़ने के बावजूद जनता ने लॉकडाउन की ‘कड़वी गोली’ को स्वीकार किया है और जीवन बचाने में सहयोग दिया है, वहीं ऐसे समय में कुछ ‘असामाजिक तत्व’ दवाओं की जमाखोरी कर उसकी कालाबाजारी कर रहे हैं. Also Read - Ration Card: करोड़ों लोगों के लिए खुशखबरी, अगर आपके पास राशन कार्ड है, मिलेंगे 4000 रुपये

उन्होंने कहा, ‘इसी तरह खबरें मिल रही हैं कि कुछ जगहों पर ऑक्सीजन सिलिंडर ज्यादा कीमतों पर बेचे जा रहे हैं. महामारी के समय ऐसा कृत्य गंभीर अपराध है.’

मुख्यमंत्री ने बयान में कहा, ‘रेमडेसिविर इंजेक्शन की जमाखोरी करने वालों और ऊंची कीमतों पर ऑक्सीजन सिलिंडर बेचने वालों के खिलाफ मैंने पुलिस विभाग को गुंडा अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.’ (भाषा)