नई दिल्ली. भारत के कई बैंकों के 10 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा पैसे लेकर भागने वाले भगोड़े कारोबारी विजय माल्या (Vijay Malya) को भारत लाने के लिए सीबीआई (CBI) हरसंभव प्रयास कर रही है. माल्या को भारत लाने के बाद मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में रखे जाने की तैयारी है. इसके लिए जेल की 12 नंबर बैरक को सजाया-संवारा जा रहा है. चूंकि माल्या ने लंदन के कोर्ट में भारत की जेलों की बदहाल स्थिति को लेकर शिकायत की थी और कहा था कि भारतीय जेलों में कैदियों को रखने के अच्छे इंतजाम नहीं हैं. इसके मद्देनजर ऑर्थर रोड जेल की जिस बैरक में विजय माल्या को रखा जाना है, वहां नए टाइल्स लगाए गए हैं. जेट-स्प्रे वाला कमोड लगाया गया है. साथ ही जेल की दीवारों की नए सिरे से रंगाई-पुताई कराई गई है. सीबीआई जेल की नई बैरक का वीडियो बना लिया है, जिसे लंदन की अदालत में पेश किया जाएगा. अंग्रेजी अखबार मिरर की एक रिपोर्ट के अनुसार, टॉप-सीक्रेट वीडियो को विदेश मंत्रालय भेजा गया है, जहां इसे मंजूरी दी जानी है.

विजय माल्या ने कहा- चुनाव जीतने के लिए मुझे ब्रिटेन से भारत लाना चाहती है सरकार

माल्या के वकीलों ने की थी बदहाली की शिकायत
भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के वकीलों ने अपने मुवक्किल के भारत प्रत्यर्पण करने के संबंध में यहां की जेलों की बदहाली का मुद्दा उठाया था. बचाव पक्ष के वकीलों ने लंदन की अदालत में कहा था कि ऑर्थर रोड जेल की बैरकों में प्राकृतिक रोशनी नहीं आती. वहीं कैदियों को रखने के भी सही इंतजामात नहीं हैं. इसलिए माल्या को भारत नहीं भेजा जा सकता. सीबीआई ने माल्या के वकीलों की इन्हीं दलीलों को लेकर ऑर्थर रोड की बैरक का रिनोवेशन कराया है. मिरर के अनुसार, ऑर्थर रोड जेल की बैरक के सौंदर्यीकरण का काम लोक निर्माण विभाग (PWD) ने कराया है. विभाग ने प्रमेश कंस्ट्रक्शन कंपनी को इस काम के लिए ठेका दिया था. कंपनी के शिवकुमार पाटिल ने अखबार को बताया, ‘मैं जेल के सौंदर्यीकरण को लेकर ज्यादा बात नहीं कर सकता. हालांकि हम लोगों ने बैरक के अंदर और बाहर के हिस्से में नए सिरे से रंगाई पुताई की है. बैरक नंबर 12 तक जाने वाले रास्ते को ठीक किया गया है. इसके अलावा बैरक में नए सिरे से फ्लोरिंग की गई है और टॉयलेट को भी ठीक किया गया है.’

ED ने विजय माल्या की 12500 करोड़ की संपत्ति जब्त करने उठाया ये कदम

ED ने विजय माल्या की 12500 करोड़ की संपत्ति जब्त करने उठाया ये कदम

बैरक में लगे टाइल्स और नए बाथरूम फिटिंग्स
PWD के एक अधिकारी ने अखबार को बताया कि ऑर्थर रोड जेल की दो बैरकों का सौंदर्यीकरण कराया गया है. बीते 10 अगस्त को सीबीआई के अधिकारियों ने इन बैरकों का निरीक्षण किया था. सीबीआई ने बैरक का वीडियो बनाया और कुछ दिशा-निर्देश दिए थे. सीबीआई के अधिकारी दोबारा 16 अगस्त को जेल के दौरे पर आए और एक बार फिर वीडियो बनाया. अधिकारी ने बताया कि जेल की दोनों बैरकों की दीवारों पर नए टाइल्स लगाए गए हैं. वहीं बाथरूम फिटिंग्स में भी बदलाव किया गया है. इसके अलावा जेल की टॉयलेट में जेट-स्प्रे वाला कमोड लगाया गया है. इस काम में कुल 45 मजदूरों को लगाया गया था. ऑर्थर रोड जेल का काम देखने वाले PWD के सेक्शन इंजीनियर शैलेश पोल ने अखबार को बताया कि उन्हें वर्ली इलाके के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के निर्देशों के तहत जेल के सौंदर्यीकरण का काम करने का आदेश दिया गया था. वर्ली की एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुषमा गायकवाड़ ने अखबार को बताया कि जेल की उक्त बैरक में किसे रखा जाना है, यह सोचना हमारा काम नहीं है. हमें तो प्रशासनिक दिशा-निर्देशों के तहत जेल की बैरक के सौंदर्यीकरण का काम कराना था, जो विभाग ने किया.