नई दिल्ली: इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति रतन लाल हांगलू का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है. अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. हांगलू कथित वित्तीय एवं प्रशासनिक अनियमितताओं के कारण जांच के दायरे में आए थे. अधिकारियों ने कहा, ‘‘उनका इस्तीफा मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने राष्ट्रपति भवन भेजा था, जिसे स्वीकार कर लिया गया है.’’ हांगलू ने बुधवार को इस्तीफा दिया था.

वह कथित अनियमितताओं के कारण वर्ष 2016 से जांच के दायरे में थे. इसके अलावा यौन उत्पीड़न की शिकायतों से उचित तरीके से नहीं निपटने और छात्राओं की शिकायतों के निस्तारण के लिए उचित तंत्र नहीं होने के आरोपों को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग ने पिछले सप्ताह हांगलू को समन जारी किया था.

हांगलू ने इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा था, ‘‘मैंने इस्तीफा इसलिए दिया क्योंकि मेरे खिलाफ बेबुनियाद जांच शुरू की गईं. यह कई बार साबित हो चुका है कि शिकायतों में दम नहीं था. मैंने इस्तीफा दिया क्योंकि मैं इस सब से बहुत परेशान हो चुका था.’’ बता दें कि वर्ष 2015 में उन्हें कुलपति बनाया गया था. इससे पहले वह पश्चिम बंगाल में कल्याणी विश्वविद्यालय में कुलपति पद पर रहे थे.