सोनीपत: दिल्ली से सटे सोनीपत जिले में नशे के कारोबार का पर्दाफाश हुआ है जहां रेव पार्टी आयोजित किए जाने का मामला सामने आया है. पार्टी से 150 युवाओं को पकड़ा गया है. हालांकि जांच के बाद उन्हें छोड़ दिया गया.

जिले के सबसे संवेदनशील इलाके राई विधान सभा क्षेत्र के राई औद्योगिक क्षेत्र स्थित अंजनि गेस्ट हाउस पर छापेमारी के दौरान पुलिस को करीब 150 छात्र-छात्राएं नशे में धुत मिले. इनमें सात से आठ विदेशी छात्र भी शामिल हैं. सीएम फ्लाइंग टीम में तैनात डीएसपी जितेंद्र गहलावत ने बताया कि उन्हें सोनीपत के एक गेस्ट हाउस में रेव पार्टी होने की सूचना लगातार मिल रही थी. इसी सूचना के आधार पर छापेमारी की गई.

बेकाबू गैस टैंकर ने पांच को रौंदा, एक ही परिवार के तीन लोगों की दर्दनाक मौत

सोनीपत के राई क्षेत्र से पुलिस अक्सर मुरथल के ढाबों पर सप्लाई हो रही गांजा पत्ती व सुल्फा बरामद करती रहती है. हालांकि इस तरह के नशे का प्रचार यहां के पढ़े- लिखे युवाओं में पहली बार सामने आया है. उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान अलग-अलग विश्वविद्यालयों के करीब 150 छात्र-छात्राएं नशे की हालत में पाए गए. सभी की चिकित्सीय जांच कराई गई. डीएसपी ने बताया कि गेस्ट हाउस से नशीली दवाइयां और शराब भी बरामद की गई.

BAD NEWS: दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक, बच्चे से लेकर बूढ़े तक रोजाना पी रहे 7 सिगरेट!

छापेमारी के दौरान पुलिस ने पार्टी से नशे की 215 गोलियां, नशे के दो दर्जन इंजेक्शन, अंग्रेजी शराब और बीयर की बोतलें बरामद की. पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिर‍फ्तार किया है. इनमें रेव पार्टी के आयोजक यशपाल और दिनेश के अलावा एक्साइज एवं कस्टम अधिकारी प्रदीप शर्मा का नाम शामिल है. प्रदीप शर्मा अंजनि गेस्ट हाउस का अघोषित मालिक है.

ट्रैफिक तोड़ खुद को सीएम का साला बताने वाले पर शिवराज ने कहा- मेरी करोड़ों बहनें, मैं बहुतों का साला

गहवालत ने बताया कि तीनों आरोपियों के खिलाफ स्वापक औषधि एवं मन:प्रभावी पदार्थों की धारा 21 तथा पंजाब आबकारी अधिनियम,1914 की धारा 61 के तहत मामला दर्ज किया गया है. वहीं छात्र-छात्राओं की चिकित्सीय जांच एवं पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया.