पटना: लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद से ही बिहार से ‘गायब’ राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव आखिरकार सार्वजनिक तौर पर लौट आए हैं. तेजस्वी ने शनिवार को एक ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए कहा कि वे अपना इलाज करा रहे थे. राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी ने शनिवार को ट्वीट कर चमकी बुखार के कारण मारे गए बच्चों के लिए दुख जताते हुए कहा कि इस दुखद घड़ी में राजद के दबाव के कारण ही प्रधानमंत्री को बयान देना पड़ा.

तेजस्वी ने एक अन्य ट्वीट में विरोधियों पर तंज कसते हुए लिखा, “दोस्तों, पिछले कुछ सप्ताह के दौरान मैं इलाज से गुजर रहा था. फिर भी राजनीतिक विरोधियों के साथ-साथ मीडिया के एक समूह द्वारा मुझे लेकर बनाई गई मसालेदार कहानियों को देखकर खुश हूं.”

बिहार: मुजफ्फरपुर में तेजस्वी यादव के लापता होने के बैनर लगे, तलाशने वाले को 5100 रुपए का इनाम

तेजस्वी ने एक और ट्वीट में कहा, “हम उन लोगों के प्रति जवाबदेह हैं, जो हममें एक समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और सामाजिक न्याय के विकल्प की तलाश में हैं. मैं उन सभी लोगों को विश्वास दिलाता हूं कि हम यहां हैं और हमेशा उनके साथ हैं. हाल के घटनाक्रम ने मुझे एक अलग तरीके से चीजों का अध्ययन, छानबीन, विश्लेषण और मूल्यांकन करने में मदद की है.”

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राजद की 29 मई को हुई समीक्षा बैठक के बाद तेजस्वी ‘अज्ञातवास’ पर चले गए थे, जिसकी जानकारी उनकी पार्टी के नेताओं को भी नहीं थी. तेजस्वी के इस ट्वीट के बाद माना जा रहा है कि इस मामले का पटाक्षेप हो जाएगा.