पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद भले ही चारा घोटोला मामले में रांची की जेल में सजा काट रहे हैं, परंतु पार्टी से संबंधित कोई भी फैसला लेने से वह नहीं चूक रहे हैं. लालू ने बुधवार को राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी गठित कर दी. राजद की नई टीम से जेल में सजा काट रहे मोहम्मद शहाबुद्दीन को जहां बाहर कर दिया गया है, वहीं उनकी पत्नी हिना शहाब को जगह दी गई है. इसके अलावा लालू ने अपने परिवार के चार सदस्यों को कार्यकारिणी में स्थान दिया है. जबकि जनता दल (युनाइटेड) ने तंज कसते हुए पूछा है कि आखिर सजायाफ्ता लालू प्रसाद को राजद की कार्यकारिणी से कब हटाया जाएगा. Also Read - Lalu yadav Bail: धरे रह गए राजद के अरमान, नहीं मिली लालू को बेल, फैसला अब 11 दिसंबर को

राजद के प्रधान महासचिव एस़ एम़ कमर आलम ने कार्यकारिणी की सूची जारी की. लालू की नई टीम में राबड़ी देवी, रघुवंश सिंह और शिवानंद तिवारी समेत पांच लोगों को उपाध्यक्ष और आठ लोगों को महासचिव बनाया गया है. जबकि कमर आलम को प्रधान महासचिव की जिम्मेदारी दी गई है. शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब को कार्यकारिणी का सदस्य बनाया गया है. Also Read - लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर कल हाईकोर्ट में सुनवाई, क्या लालू होंगे रिहा?

लालू ने नई कार्यकारिणी के सदस्यों में अपने पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव, तेज प्रताप यादव तथा पुत्री मीसा भारती सहित राम जेठमलानी, मनोज झा को स्थान दिया है. कोषाध्यक्ष पद से लालू के करीबी एवं राज्यसभा सांसद प्रेमचंद गुप्ता की छुट्टी कर दी गई है. हालांकि गुप्ता को कार्यकारिणी के सदस्य के रूप में टीम में स्थान दिया गया है. Also Read - Bihar Politics: जेल से फोन करने पर फंसे लालू प्रसाद यादव, बंगले से रिम्स में कराए गए शिफ्ट

जद (यू) के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने राजद की नई कार्यकारिणी पर तंज कसते हुए कहा कि “क्या दिन आ गए हैं, कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सूची भी जेल से जारी करनी पड़ रही है.”

उन्होंने पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव को ‘दागी’ करार देते हुए सवालिया लहजे में कहा, “दागी तेजस्वी जी, शहाबुद्दीन को तो सजायाफ्ता होने के कारण इस कार्यकारिणी की सूची से हटा दिया गया, परन्तु लालू प्रसादजी भी तो सजायाफ्ता हैं? उन्हें कब हटाया जाएगा, या पारिवारिक पार्टी होने के कारण उनपर यह नियम लागू नहीं होता है.”