नई दिल्ली: रोहित शेखर तिवारी की रहस्यमय मौत के तीन दिनों बाद ऑटोप्सी रिपोर्ट से पता चला है कि उनकी मौत अप्राकृतिक थी. पुलिस उपायुक्त विजय कुमार ने आईएएनएस से शुक्रवार को कहा, “रोहित शेखर तिवारी (40) की ऑटोप्सी रिपोर्ट में कहा गया है कि यह अप्राकृतिक मौत गला घोटे जाने की वजह से हुई है. इसमें अन्य विरोधाभास भी पाए गए हैं.” उन्होंने कहा, “अब इस मामले को अपराध शाखा को स्थानांतरित कर दिया गया है.” Also Read - दिल्लीवासियों के लिए अहम सूचना, कार से जाना है चांदनी चौक तो पहले पढ़ लें खबर, अब इन सड़कों पर होगा प्रतिबंध

रोहित शेखर तिवारी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के खिलाफ पितृत्व अधिकार का मुकदमा जीता था. उन्हें बुधवार को मैक्स अस्पताल में ले जाए जाने के बाद मृत घोषित कर दिया गया था. उनकी मां उन्हें एक एंबुलेंस में लेकर वहां पहुंची थीं. Also Read - New Delhi Unlock Liquor Service: अनलॉक में खुले रेस्टोरेंट, मालिक चाहते हैं जल्द शुरू हो रेस्टोरेंट में शराब की सर्विस

फोरेंसिक और अपराध शाखा की टीमों ने घटना के संबंध में सीसीटीवी के फुटेज खंगालने सहित सबूत जुटाने के लिए डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित शेखर के आवास का दौरा किया. अपराध शाखा के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि उन्होंने इस संबंध में हत्या का एक मामला दर्ज किया है. अधिकारी ने कहा, “उनकी मां, भाई, पत्नी और चार नौकरों से पूछताछ की जा रही है.” Also Read - Delhi Unlock Update: दिल्ली में अनलॉक के बाद खुले रेस्टोरेंट में नहीं मिल रही शराब, मालिक बोले- पबंदियां हटाई जाएं