नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने रोहित तोमर नाम के उस युवक को गिरफ्तार कर लिया है जो एक वीडियो में बेरहमी से एक लड़की को पीटता नजर आ रहा था. पीड़ित लड़की का कहना है कि रोहित ने उसके साथ सिर्फ मारपीट ही नहीं की बल्कि उसके साथ रेप भी किया. बेरहमी से लड़की की पिटाई का ये वीडियो वायरल हो गया था जिसके बाद पुलिस एक्शन में आई.

आरोपी रोहित तोमर दिल्ली पुलिस के एएसआई अशोक सिंह तोमर का बेटा है. इस वीडियो में नजर आ रहा है कि मोहित एक लड़की को बेरहमी से पीट रहा है. इस वीडियो को उसके दोस्त ने रिकॉर्ड किया था. रोहित इस लड़की पर थप्पड़-लात-घूंसे बरसाने के अलावा कोहनी से भी मार रहा था. लड़की चीखती रही लेकिन इसका रोहित पर कोई असर नहीं पड़ा. उसका दोस्त आराम से वीडियो फिल्माता रहा.

ये वीडियो 2 सितंबर को करीब दोपहर 3 बजे दिल्ली के तिलकनगर में एक बीपीओ दफ्तर में रिकॉर्ड किया गया था. ये बीपीओ रोहित के दोस्त अली हसन का है. बताया जा रहा है कि 21 साल का रोहित बेरोजगार है और हाल ही में उसने बीपीओ में काम करना शुरू किया था.

इस घटना का खुद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस से मामले में सख्त एक्शन लेने को कहा जिसके बाद पुलिस तुरंत हरकत में आ गई. राजनाथ ने खुद इस बारे में दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की.

लिस उपायुक्त (द्वारका) एंटो अल्फोंस के मुताबिक युवती ने पुलिस को बताया कि आरोपी रोहित तोमर ने उसे उत्तम नगर में अपने दोस्त के कार्यालय में बुलाया था और उसका यौन उत्पीड़न किया. अल्फोंस ने बताया कि यह घटना दो सितंबर को उत्तम नगर में हुई. उन्होंने बताया कि युवती ने आरोप लगाया है कि जब उसने कहा कि वह पुलिस में शिकायत दर्ज कराएगी, तब रोहित ने उसे पीटना शुरू कर दिया. गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक को इस सिलसिले में आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिए जाने के कुछ घंटों बाद यह गिरफ्तारी हुई.

एक और मामला

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक अन्य युवती से भी शिकायत मिली है. उसने आरोप लगाया है कि उसके दोस्त रोहित तोमर ने उसे यह वीडियो दिखाया, जिसमें वह युवती को पीटते दिख रहा है. साथ ही, रोहित ने उसे धमकी दी है कि अगर उसने उसकी नहीं सुनी, तो उसका भी यही हश्र होगा. डीसीपी (पश्चिम) मोनिका भारद्वाज ने बताया कि इसके बाद युवती गुरुवार को पुलिस के पास पहुंची और तोमर के खिलाफ पश्चिमी दिल्ली के तिलक नगर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया.

रोहित के पिता अशोक सिंह तोमर दिल्ली पुलिस के नारकोटिक्स विभाग में एएसआई हैं. पीड़िता ने अपने बयान में कहा है कि रोहित ने उसे अपने दोस्त के ऑफिस में बुलाया. इसके बाद रोहित ने उसके साथ रेप किया. जब उसने पुलिस में इसकी शिकायत करने की बात कही तो रोहित ने उसे पीटा. उत्तर नगर पुलिस थाने में रोहित के खिलाफ एक रेप की अलग से केस दर्ज किया गया है.