चंडीगढ़। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेता इंद्रेश कुमार ने राष्ट्रीय ध्वज पर टिप्पणी को लेकर आज जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की निन्दा की है. उन्होंने कहा कि यह देखने के लिए कि लोग तिरंगा फहराते हैं या इसे जलाते हैं, प्रयोग के तौर पर धारा 370 खत्म किया जाए.

28 जुलाई को महबूबा ने नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर को मिले विशेष दर्जे से किसी तरह की छेड़छाड़ के प्रति आगाह किया था और कहा था कि इसके गंभीर नतीजे होंगे और राज्य में तिरंगा फहराने वाला कोई नहीं होगा.

पढ़ें- मोदी से की महबूबा मुफ्ती ने मुलाकात, पत्थरबाजी का भी उठा मुद्दा

इंद्रेश ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, ‘मुख्यमंत्री महबूबा ने कहा है कि अगर धारा 370 से कोई छेड़छाड़ की जाती है तो तिरंगे को कंधा देने वाला कोई नहीं होगा.’ आरएसएस नेता ने कहा, ‘मैं महबूबा, फारूक अब्दुल्ला, गुलाम नबी आजाद या गिलानी से कहना चाहता हूं कि हम धारा 370 को यह देखने के लिए प्रयोग के तौर पर खत्म कर दें कि लोग झंडा फहराते हैं या इसे जलाते हैं. मैं उनसे यह प्रयोग करने का आग्रह करना चाहता हूं, और तब सारी दुनिया सच जान जाएगी.’

बता दें कि जम्मू कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन सरकार है. विपरीत राजनीतिक विचारधारा के बावजूद दोनों मिलकर सरकार चला रहे हैं. समय समय पर कई मुद्दों पर दोनों के बीच भारी मतभेद भी नजर आया है. खुद बीजेपी ही महबूबा और पीडीपी पर आतंकवाद और पाकिस्तान को लेकर नरमी भरा रुख अख्तियार करने का आरोप लगाया है. इसे लेकर विपक्ष ने भी बीजेपी-पीडीपी को अक्सर निशाने पर लिया है.