नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) लोगों के चंदे से यहां अपना मुख्यालय बनवा रहा है. इसके लिए संघ से जुड़े संगठनों के पदाधिकारी ऐसे लोगों से संपर्क कर रहे हैं, जो विचारधारा का समर्थन करते हैं. इस काम में भाजपा के पदाधिकारी भी संघ का पूरा सहयोग कर रहे हैं. संघ का मुख्यालय यूं तो नागपुर में है, लेकिन दिल्ली स्थित केशव कुंज कार्यालय से भी महत्वपूर्ण कार्य संचालित होते हैं. वहीं संघ के पदाधिकारी ने बताया की संघ हर काम को समाज के सहयोग से पूरा करता है.

भवन के निर्माण का काम 2016 से ही चल रहा है, लेकिन अब इसे एक साल के भीतर पूरा करने का लक्ष्य है. भवन निर्माणाधीन होने के कारण फिलहाल संघ के संगठन का काम उदासीन आश्रम से चल रहा है. संघ सूत्रों ने बताया कि दिल्ली के झंडेवालान स्थित केशव कुंज मुख्यालय के निर्माण के लिए धनराशि जुटाने का काम केशव स्मारक समिति की ओर से किया जा रहा है. भवन निर्माण प्रोजेक्ट को ‘केशव कुंज नवरचना प्रकल्प’ नाम दिया गया है.

संघ के एक पदाधिकारी ने बताया कि संघ हर काम समाज के सहयोग से ही करता है. चंदा सिर्फ चेक से ही लिया जा रहा है. जो भी संघ परिवार के शुभचिंतक हैं, वो इसमें सहयोग कर रहे हैं. दिल्ली के झंडेवालान में संघ के नए भवन का शिलान्यास नवंबर, 2016 में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने किया था. कुल 3.5 लाख वर्ग फुट क्षेत्रफल में भवन का निर्माण हो रहा है. इसमें कुल तीन टॉवर का ढांचा खड़ा हो गया है.

पहला टॉवर करीब 12 तल का है. बीते नौ नवंबर को सुप्रीम कोर्ट से अयोध्या पर फैसला आने के बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत ने इसी अर्धनिर्मित भवन में प्रेस कांफ्रेंस की थी. सूत्र बताते हैं कि भवन बन जाने के बाद संघ और उससे जुड़े अनुषांगिक (सहयोगी) संगठनों के कार्यालय यहां एक ही जगह शिफ्ट हो जाएंगे. इस भवन में गाड़ियों की पार्किं ग के लिए काफी जगह होगी.