नई दिल्ली. दो दिन पहले राजस्थान के अलवर में गो तस्करी के संदेह में रकबर खान की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या किए जाने के बाद एक तरफ जहां केंद्र सरकार मॉब-लिंचिंग रोकने के लिए भारतीय दंड संहिता (IPC) में कानून सख्त करने पर विचार कर रही है. वहीं दूसरी तरफ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के नेता इंद्रेश कुमार ने कहा है कि गोवध पर रोक लगाने के बाद ही यह समस्या हल हो सकती है. मीडिया के साथ बातचीत करते हुए इंद्रेश कुमार ने हालांकि हाल में देश के कई इलाकों में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या करने की घटनाओं की निंदा की. लेकिन इससे पहले गायों के संरक्षण पर गंभीरता से विचार करने की सलाह दी.

दुनिया में किसी धर्मस्थल पर नहीं होता गोवध
आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने धार्मिक आधार पर गोवध को हाल में हुई मॉब-लिंचिंग की घटनाओं से जोड़ते हुए कहा कि दुनिया में किसी भी धर्म के धार्मिक स्थल पर ऐसा होने का कोई उदाहरण नहीं मिलता. कुमार ने मीडियाकर्मियों के साथ बातचीत करते हुए कहा, ‘किसी भी भीड़ की हिंसा, वह आपके घर की, मोहल्ले की, जाति की, पार्टी की हो, वह कभी भी अभिनंदनीय नहीं हो सकती. दुनिया के जितने भी धर्म हैं, उनके किसी एक धर्म स्थल पर बता दो कि गाय का वध होता है.’ बता दें कि आरएसएस के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार संघ की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य हैं. साथ ही वे इस संस्था के संपर्क प्रमुख भी हैं. इंद्रेश कुमार राजस्थान के अलवर में बीते शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात गो तस्करी के संदेह में हरियाणा के रहने वाले रकबर खान की हत्या किए जाने के मामले पर मीडिया से बात कर रहे थे.

अलवर लिंचिंगः 3 घंटे तड़पते रहे रकबर... चाय पीती रही पुलिस, अब केस सुप्रीम कोर्ट में

अलवर लिंचिंगः 3 घंटे तड़पते रहे रकबर... चाय पीती रही पुलिस, अब केस सुप्रीम कोर्ट में

ईसा मसीह का उदाहरण देकर समझाया
मॉब-लिंचिंग की घटनाओं पर अपनी बात रखते हुए संघ के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने विभिन्न धर्मों का उदाहरण देते हुए गायों के संरक्षण पर जोर दिया. उन्होंने कहा, ‘ईसा मसीह धरती पर गौशाला में आए, इसलिए वहां गाय को ‘मदर काउ’ बोलते हैं. मक्का मदीना में गाय के वध को अपराध माना जाता है.’ गो-तस्करी रोकने और गायों को बचाने को ही मॉब-लिंचिंग की समस्या का एकमात्र हल बताते हुए इंद्रेश कुमार ने कहा, ‘क्या हम संकल्प नहीं कर सकते कि धरा, मानवता को इस पाप से मुक्त कराएं. अगर मुक्त हो जाए तो आपकी समस्या (मॉब-लिंचिंग) का हल हो जाएगा.’