RT PCR report or vaccination certificate केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच तमिलनाडु सरकार ने रविवार को कहा पड़ोसी राज्य से आने वाले लोगों के लिये पांच अगस्त से आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट अथवा टीके की दोनों खुराक का प्रमाणपत्र अनिवार्य कर दिया गया है .Also Read - COVID-19 Update: कोरोना के 30,773 नए केस आज आए, केरल के 19,325 मामले शामिल, एक्‍ट‍िव मरीजों की संख्‍या घटी

चिकित्सा एवं परिवार कल्याण मंत्री एम सुब्रमण्यम ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘संबंधित जिला प्रशासनों को निगरानी बढ़ाने का निर्देश दिया गया है . इसके अलावा उनसे कहा गया है कि पांच अगस्त से वे केरल से आने वाले उन्हीं लोगों को प्रदेश में प्रवेश करने की अनुमति दें जिनके पास आरटी-पीसीआर जांच की रिपोर्ट है अथवा टीके की दोनों खुराक लेने का प्रमाणपत्र मौजूद है. Also Read - Char Dham Yatra Guidelines: कल से शुरू हो रही है चारधाम यात्रा, दर्शन के लिए जरूरी है रजिस्ट्रेशन और ई-पास, जानिए डिटेल्स

सुब्रमण्यम ने शनिवार को सीरम सर्वेक्षण की जारी रिपोर्ट पर कहा कि उन जिलों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा, जहां से वायरस के लिए कम प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों की सूचना आयी है. Also Read - शराब खरीदने वालों के साथ पशुओं की तरह व्यवहार न हो, अगर ऐसा हुआ तो सरकार.....

उन्होंने कहा, ‘‘विरूधुनगर में सीरम पॉजीटिव दर सर्वाधिक 84 फीसदी है जबकि चेन्नई में यह आंकड़ा 82 प्रतिशत है. लेकिन, इरोड जिले में यह सबसे कम है. उन जिलों पर विशेष ध्यान दिया जायेगा जहां के लोगों में वायरस प्रतिरोधक क्षमता कम है. इन स्थानों पर टीकाकरण की खुराक और चिकित्सा बुनियादी सुविधा बढायी जायेगी .’’

तमिलनाडु की तीसरी सीरम सर्वेक्षण में इस बात का खुलासा हुआ कि करीब 66.2 फीसदी आवाम ने सार्स-कोव-2 वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित किया है. कोविड-19 के लिये सार्स-कोव-2 वायरस जिम्मेदार है.

(इनपुट भाषा)