नई दिल्ली. कर्नाटक में कांग्रेस के मंत्री डीके शिवकुमार के ठिकानों पर रेड पर राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ. कांग्रेस सांसदों ने मंत्री के ठिकाने पर छापेमारी का मामला राज्यसभा में उछाला, जिसपर विपक्षी सदस्यों ने खूब नारेबाजी की. कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने तल्ख अंदाज में कहा कि आप अपनी पार्टी (बीजेपी) के लोगों के घरों पर रेड डलवाइए जो 15 करोड़ का ऑफर दे रहे हैं. आजाद का इशारा गुजरात राज्यसभा चुनावों पर था, जिसमें कथित तौर पर विधायकों को खरीदने की कोशिश की बात पर कांग्रेस बीजेपी पर हमलावर है.Also Read - Parliament Winter Session: विपक्षी नेताओं ने की मुलाकात, वेंकैया नायडू की दो टूक-सांसदों को माफी मांगनी ही होगी

पढ़ें- 120 अफसरों की टीम ने डाली कांग्रेस मंत्री के ठिकानों पर रेड, दिल्ली में घर से मिले 5 करोड़ Also Read - Omicron Scare: इंटरनेशनल फ्लाइट्स की बहाली के सवाल पर मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिया ये जवाब

कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद आनंद शर्मा ने कहा कि सत्ता की ताकत का बेतरतीब इस्तेमाल करना ट्रेंड में शामिल हो चुका है. उन्होंने आगे कहा कि मंत्री डीके शिवकुमार और उनके भाई जनता द्वारा चुनकर आए प्रतिनिधि हैं. वह गुजरात के विधायकों के ठहरने का इंतजाम देख रहे हैं, आखिर क्यों इस टाइम उनके ठिकानों पर रेड डाली गई. Also Read - मॉनसून सत्र में हंगामे पर शीत सत्र में कार्रवाई, कांग्रेस, शिवसेना समेत इन पार्टियों के 12 राज्यसभा सांसद सस्पेंड; देखें List

विपक्षी सांसदों के हमले पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जवाब दिया. जेटली ने कहा कि किसी भी विधायक पर रेड की कार्रवाई नहीं की गई है. एक व्यक्ति पर ही यह कार्रवाई हुई है. वो (मंत्री डीके शिवकुमार) रिसॉर्ट में ही थे. अभी, अधिकारी उन्हें आवास पर ले गए हैं. रिजॉर्ट में न तो कोई सर्च हुआ है और न ही कोई टैक्स ऑफिसर वहां पर है. सिर्फ कर्नाटक सरकार के मंत्री पर यह कार्रवाई की गई है. मंत्री को रिजॉर्ट से घर ले जाया गया है और पूछताछ की जा रही है.

जेटली ने बताया कि जब अधिकारी रिजॉर्ट में पहुंचे तो कांग्रेस के संबंधित नेता कागजों को फाड़ रहे थे और अधिकारियों ने फटे हुए कागजों को ही लेकर पंचनामे में शामिल किया है. इस दौरान सदन में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी उपस्थित थीं. बाद में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी पहुंचे.

बता दें कि आयकर विभाग ने कर चोरी एक मामले से जुड़ी अपनी जांच के सिलसिले में आज कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार के कर्नाटक और दिल्ली स्थित कई ठिकानों की तलाशी ली, जिनकी मेजबानी में यहां से निकट एक रिसॉर्ट में गुजरात के 44 कांग्रेस विधायक ठहरे हुए हैं.