पुतिन ने भारत को बताया 'महान शक्ति', पीएम मोदी के साथ बैठक में बोले- आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में हम साथ हैं

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक में कहा, हम भारत को एक महान शक्ति, एक मित्र राष्ट्र और समय की कसौटी पर खरे उतरने वाले मित्र के रूप में देखते हैं.

Advertisement

Russian President Vladimir Putin in India: एक दिन के भारत दौरे पर आए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने भारत को एक 'महान शक्ति' बताया. उन्होंने पीएम मोदी के साथ बैठक में कहा कि रूस और भारत के बीच संबंध बढ़ रहे हैं. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक में कहा, "हम भारत को एक महान शक्ति, एक मित्र राष्ट्र और समय की कसौटी पर खरे उतरने वाले मित्र के रूप में देखते हैं. हमारे देशों के बीच संबंध बढ़ रहे हैं और मैं भविष्य देख रहा हूं."

Advertising
Advertising

उन्होंने कहा, "वर्तमान में, रूसी की तरफ से आने वाले थोड़े और निवेश के साथ आपसी निवेश लगभग 38 बिलियन का है. हम किसी अन्य देश की तरह सैन्य और तकनीकी क्षेत्र में बहुत सहयोग करते हैं. हम भारत में उच्च तकनीक विकसित करने के साथ-साथ उत्पादन भी करते हैं."

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा, "स्वाभाविक रूप से, हम हर उस चीज के बारे में चिंतित हैं जिसका आतंकवाद से लेना-देना है. आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई भी मादक पदार्थों की तस्करी और संगठित अपराध के खिलाफ लड़ाई है. इस संबंध में, हम अफगानिस्तान में हो रहे बदलावों के बारे में चिंतित हैं."

Advertisement

वहीं इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक दिन की भारत यात्रा पर आए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात की और कहा कि भारत-रूस संबंध पहले से कहीं ज्यादा मजबूत हैं. पीएम मोदी ने कहा, "भारत और रूस के बीच संबंध वास्तव में अंतरराज्यीय मित्रता का एक अनूठा और विश्वसनीय मॉडल है."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सोमवार को भारत-रूस शिखर बैठक की, जिसमें दोनों देशों के बीच विशेष रणनीतिक साझेदारी को और बढ़ाने के लक्ष्य के साथ कई क्षेत्रों को शामिल किया गया. मोदी ने अपनी शुरूआती टिप्पणी में कहा कि कोविड-19 महामारी के बावजूद भारत और रूस के बीच संबंधों की गति में कोई बदलाव नहीं हुआ है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के बीच विशेष रणनीतिक संबंध मजबूत हो रहे हैं तथा दोनों पक्ष अफगानिस्तान में स्थिति और अन्य मुद्दों पर संपर्क में बने हुए हैं. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दशकों में, विश्व ने कई मूलभूत परिवर्तन और विभिन्न प्रकार के भू-राजनीतिक बदलाव देखे हैं लेकिन भारत एवं रूस की मित्रता पहले जैसी बनी रही है.

प्रधानमंत्री ने कहा, आपकी भारत यात्रा भारत के साथ आपकी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करती है.’’ रणनीतिक महत्व के मुद्दों पर व्यापक चर्चा करने के लक्ष्य से भारत और रूस के विदेश एवं रक्षा मंत्रियों की पहली टू प्लस टू’वार्ता के कुछ घंटों बाद यह शिखर वार्ता हुई. बैठक के लिए पुतिन एक संक्षिप्त यात्रा पर भारत आए हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:December 6, 2021 7:16 PM IST

Updated Date:December 6, 2021 7:21 PM IST

Topics