नोएडा (उप्र): उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में कार्यरत मुथूट फाइनेंस लिमिटेड के प्रबंधक की करीब चार महीने पहले हुई हत्या के मामले में पुलिस ने उसके रिश्ते के भाई सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है. नोएडा पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने बताया कि यह हत्या कंपनी की तिजोरी में रखे सोने को लूटने की योजना नाकाम होने के बाद की गई थी. गौतमबुद्ध नगर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया, ‘‘ आजाद का शव 20 जून को बादलपुर थाना क्षेत्र के नाले से बरामद की गई थी. उसे गोली मारी गई थी.’’

अफगानिस्तान में मारा गया एशिया क्षेत्र का अल कायदा प्रमुख, पाकिस्तान का था नागरिक

उन्होंने पत्रकारों को बताया, ‘‘ कथित हत्या के जुर्म में जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनमें आजाद का रिश्ते का भाई परविंदर शामिल है. दूसरे शख्स का नाम चमनलाल कश्यप है, जबकि मामले में दो आरोपी सुनील और दीपक, जो पूरी साजिश का हिस्सा थे, फरार हैं.’’ कृष्ण ने बताया कि परविंदर ने आजाद से 10,000 रुपये लिए थे जिसे आजाद बार-बार मांग रहा था.

आपने हमें 300 सीटें दीं, हमने अनुच्छेद 370 हटाया: अमित शाह