Also Read - यूएई के प्रधानमंत्री से मिले विदेश मंत्री एस जयशंकर, कोविड के बाद आर्थिक सहयोग पर हुई चर्चा

Also Read - कोविड-19 के बाद के दौर में सेशेल्स के साथ द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करेगा भारत : जयशंकर

इस्लामाबाद, 3 मार्च | भारतीय विदेश सचिव एस. जयशंकर ने मंगलवार को दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) देशों की यात्रा के तहत अपने पाकिस्तानी समकक्ष एजाज अहमद चौधरी के समक्ष सीमा पार से हो रही आतंकवादी गतिविधियों पर चिंता जताई। दोनों इस बात से सहमत हुए कि सीमा पर शांति व सौहार्द्र सुनिश्चित करना जरूरी है। दोनों ने वार्ता के दौरान द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की और मतभेद दूर करने की दिशा में एक साझा कोशिश करने को तैयार हुए। यह भी पढ़िए– दक्षेस यात्रा : इस्लामाबाद पहुंचे जयशंकर Also Read - यूएई के दौरे पर जयशंकर, भारतीयों से बोले- कोरोना संबंधी मुद्दों पर सरकार जवाबदेह

सूत्रों के अनुसार, इस दौरान जयशंकर ने दोहराया कि हमारी चिंता मुंबई आतंकवादी हमले सहित सीमा पार से हो रहा आतंकवाद है। चौधरी के साथ बातचीत के बाद भारतीय विदेश सचिव ने एक सवाल के जवाब में कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दक्षेस यात्रा पहल के हिस्से के रूप में इस्लामाबाद आकर खुश हैं। मंगलवार सुबह इस्लामाबाद पहुंचे जयशंकर ने कहा, “मेरी यात्रा ने हमारे द्विपक्षीय रिश्तों पर विचार-विमर्श करने का एक मौका उपलब्ध कराया है। हम एक-दूसरे की चिंताओं व हितों से जुड़े हुए हैं। हम मतभेदों को दूर करने की दिशा में मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं।”  यह भी पढ़िए–विदेश सचिव जयशंकर बांग्लादेश में

उन्होंने कहा, “हम इस बात पर सहमत हैं कि सीमा पर शांति व सौहार्द्र सुनिश्चित करना जरूरी है।” जयशंकर ने कहा कि वह दिन में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात करने को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, “हमारी वार्ता सकारात्मक व रचनात्मक माहौल में हुई।”