नई दिल्ली| मंगलवार को राज्यसभा में पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और एक्ट्रेस रेखा की गैरमौजूदगी का मुद्दा उठा. समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने सचिन तेंदुलकर और अभिनेत्री रेखा की राज्सयसभा में गैरमौजूदगी को मुद्दा बनाया. सपा सांसद ने दोनों की सदस्यता खत्म करने की मांग की. अग्रवाल ने कहा कि जब सचिन और रेखा सदन में आते ही नहीं हैं, तो क्यों नहीं उनकी सदस्यता रद्द कर उन्हें सदन से निकाल दिया जाए. Also Read - महेंद्र सिंह धोनी की ट्रोलिंग पर भड़की पत्‍नी साक्षी, एक लाख का दान देने वाली खबरों पर कहा...

बता दें कि सचिन तेंदुलकर और रेखा की राज्यसभा में मौजूदगी काफी कम रही है. सपा सांसद अग्रवाल ने विजय माल्या का उदाहरण देते हुए कहा कि अगर उन्हें सदन से निकाला जा सकता हैं तो इन्हें क्यों नहीं.

यह पहला मौका नहीं जब नरेश अग्रवाल ने इस मुद्दे को सदन में उठाया हो, इससे पहले भी वह मनोनीत सदस्यों के गायब रहने का मुद्दा सदन में उठा चुके हैं. मार्च में उन्होंने सदन में कहा था- ‘संवैधानिक व्यवस्था के तहत राज्यसभा में 12 सदस्य मनोनीत किए जाते हैं. लेकिन ऐसे कई सदस्य सदन में नहीं आ रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि सदन में नहीं आने का मतलब उनकी रुचि नहीं होना भी हो सकता है  और अगर ऐसा है तो उन्होंने अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए.

ज्ञात हो कि सचिन तेंदुलकर और रेखा दोनों को साल 2012 में सदन में मनोनीतकिया गया था. 2012 के बाद से करीब 348 दिनों में सचिन सिर्फ 23 दिन और रेखा मात्र 18 दिन ही सदन में रहें. अब हाल ही में भी मानसून सत्र में भी दोनों उपस्थित नहीं रहे हैं. मौजूदा मॉनसून सत्र से भी ये दोनों सदस्य अभी तक नदारद रहे हैं. वहीं पिछले बजट सेशन में भी दोनों सिर्फ एक-एक दिन ही सदन में उपस्थित रहे.