नई दिल्ली : अक्सर ही अपने विवादित और भड़काऊ बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची (Sadhvi Prachi) ने सीएए को लेकर दिल्ली (Delhi) में हुए दंगों को लेकर विवादित बयान दिया है. साध्वी प्राची ने अपने बयान में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को निशाने पर लेते हुए उन पर विवादित टिप्पणी की है. Also Read - Covid-19: देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 5000 के करीब, लॉकडाउन बढ़ाने पर विचार कर रही है सरकार

दरअसल, साध्वी प्राची उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के शाहजहांपुर (Shahjahanpur) पहुंची थीं, जहां उन्होंने दिल्ली में हुई हिंसा का जिम्मेदार मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बताया और उन्हें कोरोना वायरस (Corona Virus) से भी ज्यादा खतरनाक बता दिया. साध्वी प्राची ने कहा कि ‘कोरोना वायरस से 20 दिन में सिर्फ 2 मौतें हुई हैं, लेकिन दिल्ली दंगों में तो 36 घंटे में 55 मौतें हो गईं. इसलिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तो कोरोना वायरस से भी ज्यादा खतरनाक हैं.’ Also Read - केंद्र सरकार को हाई कोर्ट का निर्देश, झारखंड को तत्काल दस हजार टेस्ट किट और 25 हजार पीपीई मुहैया कराएं

साध्वी प्राची ने आगे कहा कि, “दिल्ली में हुई हिंसा के पीछे अंतर्राष्ट्रीय साजिश है. अगर गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) नहीं होते तो इस बात में कोई शक नहीं है कि मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) की घटना दोबारा दोहराई जा सकती थी.” इसके साथ ही साध्वी ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर भी निशाना साधा और उनके 351 सीटें जीतने वाले बयान पर भी पलटवार किया. Also Read - Covid-19: सांसदों का वेतन घटाने के लिए अध्यादेश जारी, अब हर महीने उठाना होगा 27 हजार रूपये का नुकसान

साध्वी ने कहा कि, ‘अखिलेश यादव को अभी तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से राजनीति की कोचिंग लेने की जरूरत है. फिलहाल उन्हें चादर तानकर आराम ही करना चाहिए.’ साध्वी प्राची ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि वे इटली से भारत में कोरोनावायरस लेकर आए हैं.