नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में समाजनादी पार्टी (एसपी) को आज एक और झटका लगा है. एमएलसी सरोजिनी अग्रवाल ने शुक्रवार को एसपी से इस्तीफा दे दिया है और बीजेपी से जुड़ गई हैं. बीजेपी ज्वाइन करने के बाद सरोजिनी अग्रवाल ने कहा कि जब से नेता जी (मुलायम सिंह) एसपी अध्यक्ष के पद से हटें तब से पार्टी में मन नहीं लगता था, इसलिए उन्होंने यह कदम उठाया.Also Read - कांग्रेस MLA ने विधानसभा में छिड़का 'गंगा जल', स्पीकर बोले- ये ड्रामा हॉल नहीं, अपनी सीट पर जाएं

सरोजिनी अग्रवाल ने कहा कि मैं नेता जी (मुलायम सिंह यादव) की वजह से दो बार विधान परिषद सदस्य बनी. अब नेताजी पार्टी में सक्रिय नहीं हैं. मेरी किसी से नाराजगी नहीं है. मैं सभी का बहुत सम्मान करती हूं. जब से पार्टी में टूट हुई तब से मुझे बहुत अटपटा लगता था. यह कह सकते हैं कि मेरा मन नहीं लगता था. Also Read - अमित शाह ने जवानों के साथ खाना खाया, कहा- देश की रक्षा करने वालों के लिए सरकार सब कुछ करने को तैयार

एमएलसी सरोजिनी अग्रवाल योगी सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी और ग्राम्य विकास राज्यमंत्री महेन्द्र सिंह की मौजूदगी में बीजेपी से जुड़ीं. मेरठ से एमएलसी सरोजनी अग्रवाल  को एसपी के दिग्गज नेता आजम खान का करीबी माना जाता है. बीजेपी ज्वाइन करने से पहले सरोजिनी ने अपना इस्तीफा विधान परिषद के सभापति रमेश यादव को सौंप दिया. उनका कार्यकाल वर्ष 2021 में समाप्त होना था. Also Read - BJP के यूपी चीफ ने अखिलेश यादव की तुलना मुगल शासकों से की, बोले- इन सबने देश लूटा

बीजेपी प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने इस घटनाक्रम के बारे में कहा कि इससे साबित हो गया है कि आम आदमी ही नहीं बल्कि अन्य विरोधी पार्टियों के नेताओं का भी नरेन्द्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह में विश्वास बढ़ा है.

पिछले एक सप्ताह के दौरान एसपी के विधान परिषद सदस्य द्वारा इस्तीफा दिए जाने का यह तीसरा मामला है. इससे पहले 29 जुलाई को एसपी के बुक्कल नवाब और यशवंत सिंह उच्च सदन की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद बीजेपी में शामिल हो गए थे.

भाषा इनपुट