भुवनेश्वर: ओडिशा के रायगढ़ जिले में मंगलवार की शामन को हावड़ा जगदलपुर समलेश्वरी एक्सप्रेस के एक रखरखाव वाले कोच से टकराने के बाद ट्रेन के इंजन में आग लग गई. इस घटना में रेलवे के तीन कर्मचारियों की मौत हो गई. यह घटना तब हुई जब रखरखाव वाले कोच से टकराने के बाद इंजन, फ्रंट गार्ड सह सामान वैन और सामान्य द्वितीय श्रेणी का डिब्बा पटरी से उतर गया. रखरखाव कोच वहां पर कुछ काम कर रहा था. यह हादसा ओडिशा के रायगाड़ा जिले में सिंगापुर रोड और केउटगुडा के बीच हुआ.

पूर्वी तटीय रेलवे के प्रवक्ता जे पी मिश्रा ने बताया कि यह हादसा सिंगापुर रोड और क्यूतगुदा के बीच हुआ. यह घटना तब हुई जब रखरखाव वाले कोच से टकराने के बाद इंजन, फ्रंट गार्ड सह सामान वैन और सामान्य द्वितीय श्रेणी का डिब्बा पटरी से उतर गया. रखरखाव कोच वहां पर कुछ काम कर रहा था. ट्रेन मरम्मत कार्य के लिए खड़ी एक टॉवर कार से टकरा गई, जिस कारण इंजन में आग लग गई.

टॉवर कार से टकराने के बाद समलेश्वरी एक्सप्रेस का इंजन, लगेज वैन और सामान्य द्वितीय श्रेणी का एक कोच पटरी से उतर गया. आग लगने के बाद इंजन को अलग कर दिया गया. हादसा शाम लगभग 4.30 बजे हुआ. आग से सभी कोच और यात्री गैर प्रभावित रहे, केवल इंजन क्षतिग्रस्त हो गया. अग्निशमन दस्ता ने आग की लपटों पर काबू पा लिया है. घटनास्थल पर एक एम्बुलेंस भी पहुंच गया है. हादसे के बाद केउटगुडा और सिंगापुर रोड के स्टेशन मास्टरों को निलंबित कर दिया गया है.

रखरखाव वाले कोच का इस्तेमाल विद्युतीकृत मार्गों के ओवरहेड बिजली ट्रांसमिशन उपकरणों के रखरखाव और निरीक्षण में किया जाता है. प्रवक्ता ने बताया कि रखरखाव वाले कोच से टकराने के बाद इंजन में आग लग गई और बाद में, इसे बाकी के डिब्बों से अलग कर दिया गया.

घटना में सिर्फ इंजन प्रभावित हुआ है बाकी ट्रेन को नुकसान नहीं पहुंचा है और यात्रियों को कोई चोट नहीं आई, जबकि रखरखाव वाले कोच के तीन कर्मचारियों की मौत हो गई. मृतकों की पहचान वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर (इलेक्ट्रिकल) सागर, इलेक्ट्रिकल तकनीशियन गौरी नायडू और रखरखाव कोच के तकनीशियन सुरेश के तौर पर हुई है.

मिश्रा ने बताया कि घटना की जांच कोलकाता के रेलवे सुरक्षा आयुक्त करेंगे. मामले को गंभीरता से लिया गया है और रेलवे बोर्ड ने दुर्घटना का पूरा विवरण मांगा है. मिश्रा ने बताया कि क्यूतगुदा और सिंगापुर रोड के स्टेशन मास्टरों को निलंबित कर दिया गया है.

दमकल की गाड़ियों और एंबुलेंसों को मौके पर भेजा गया है और विशाखापत्तनम से वरिष्ठ अधिकारी भी रवाना हो गए हैं. हादसे के बाद केउटगुडा और सिंगापुर रोड के स्टेशन मास्टरों को निलंबित कर दिया गया है.