नई दिल्लीः महाराष्ट्र में भाजपा और एनसीपी के नेता अजित पवार के गठबंधन से नई सरकार बनने के बाद संजय राउत ने अजीत पवार को धोखेबाज करार दिया है. उन्होंने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए गुस्से में कहा कि वह एक धोखेबाज नेता है. राउत ने कहा कि वह महाशत कल रात तक हमारे पास थे और शिवसेना को समर्थन देने की बात कर रहे थे. इसके साथ ही उन्होंने भाजपा पर राजभवन की शक्तियों का दुरुपयोग करने का भी आरोप लगाया है.

राउत ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि आज के पूरे प्रकरण से यह बात को साबित हो गई कि भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो कि सत्ता को पाने के लिए कुछ भी कर सकती है. उन्होंने कहा कड़े शब्दों में अजीत पवार के लिए कहा कि वह जिंदगी भर सड़क पर रहेंगे.

शिवसेना नेता संजय राउत कुछ घंटों पहले तक यह दावा कर रहे थे कि इस बार राज्य में शिवसेना का ही मुख्यमंत्री बनेगा और अचानक हुए इस उलटफेर के बाद उन्होंने कहा कि अजित पवार कल रात में मेरे साथ थे और उस समय वह आंखें नहीं मिला रहे थे. इससे साफ हो गया था कि उनके मन में चोर है और वह कुछ छुपा रहे हैं. उन्होंने कहा अब उनका फोन भी ऑफ जा रहा है. उन्होंने कहा कि जब कोई पाप करने जाता है तो वह आप से आंख नहीं मिला पाता ठीक वैसा ही कल अजित कर रहे थे.

अपने अगले कदम को लेकर सेना नेता ने कहा, उद्धव ठाकरे जी और शरद पवार जी संपर्क में हैं. दोनों आज मिलेंगे भी, वे एक साथ मीडिया को भी संबोधित कर सकते हैं. लेकिन तथ्य यह है कि अजीत पवार और उनका समर्थन करने वाले विधायकों ने छत्रपति शिवाजी महाराज और महाराष्ट्र का अपमान किया है.