मुंबईः शिवसेना के सांसद संजय राउत ने महाराष्ट्र में सरकार के गठन को लेकर कहा कि यहां तीनों दल मिलकर एक सफल सरकार बनाएंगे और पूरे पांच साल शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होगा. उन्होंने कहा कि अब तो भगवान इंद्र का भी सिंहासन मिले तो भी भाजपा के साथ वह नहीं जाएंगे. राउत ने संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस और राकांपा के साथ वाला त्रिदलीय गठबंधन जब सत्ता में आएगा तब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का पद उनकी पार्टी को ही मिलेगा.

बता दें कि इससे पहले यह अटकले भी लगाई जा रही थी कि भाजपा शिवसेना के साथ सीएम पद साझा करने के लिए तैयार हो गई है. इस बारे में सवाल पर राउत ने कहा, ‘‘प्रस्तावों के लिए वक्त अब खत्म हो चुका है. महाराष्ट्र की जनता शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनते देखना चाहती है.’’ यह पूछे जाने पर क्या तीनों गैर भाजपा दल शुक्रवार को राज्यपाल से मुलाकात करेंगे, इस पर राउत ने कहा, ‘‘जब राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है तो ऐसे में राज्यपाल से मुलाकात क्यों करेंगे.’’

आज सुबह ही शिवसेना नेता ने कहा था कि सरकार गठन के बारे में बात लगभग तय हो चुकी है और कांग्रेस और एनसीपी ने भी सीएम पद के लिए शिवसेना के साथ सहमति जताई है. मुख्यमंत्री पद के लिए खुद का नाम आने के बारे में उन्होंने कहा कि यह सिर्फ एक अफवाह है और उद्धव ठाकरे ही महाराष्ट्र के अगले सीएम होंगे. इससे पहले गुरुवार की रात को सरकार गठन के लिए उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी मुलाका की थी.

आपको बता दें कि इस बार विधानसभा चुनाव में शिवसेना ने आदित्य ठाकरे को अपना मुख्य चेहरा बनाया था भाजपा से टकरार के बाद से माना जा रहा था कि आदित्य ठाकरे सीएम बन सकते हैं लेकिन अब महाराष्ट्र की राजनीति पूरी तरह से बदल गई है और अगर हालातों पर गौर करें तो उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के अगले सीएम बनेंगे.