नई दिल्ली: शिरोमणी अकाली दल के NDA गठबंधन से अलग होने पर शिवसेना के नेता संजय राउत ने बयान जारी किया है. संजय राउत ने कहा- NDA के मजबूत स्तंभ शिवसेना और अकाली दल थे. शिवसेना को मजबूरन NDA से बाहर निकलना पड़ा, अब अकाली दल निकल गया. NDA को अब नए साथी मिल गए हैं, मैं उनको शुभकामनाएं देता हूं. जिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं हैं मैं उसको NDA नहीं मानता. Also Read - Bihar Munger Violence: संजय राउत ने पूछा-मुंगेर की घटना पर भाजपा नेता ना सवाल कर रहे, ना बवाल, क्यों

बता दें कि कृषि विधेयकों के मुद्दे पर सरकार से नाराज चल रही शिरोमणी अकाली दल आधिकारिक रूप से राजग (NDA) से अलग हो गई है. खुद शिरोमणी अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने शनिवार को इसकी घोषणा की. पार्टी की कोर समिति की बैठक के बाद उन्होंने यह घोषणा की. सुखबीर ने कहा, ‘शिरोमणि अकाली दल की निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई कोर समिति की आज रात हुई आपात बैठक में भाजपा नीत राजग से अगल होने का फैसला सर्वसम्मति से लिया गया.’ इससे पहले राजग के दो अन्य प्रमुख सहयोगी दल शिवसेना और तेलगु देशम पार्टी भी अन्य मुद्दों पर गठबंधन से अलग हो चुके हैं. Also Read - Bihar Polls 2020: दूसरे फेज के चुनाव से पहले नीतीश कुमार ने खेला आबादी के हिसाब से आरक्षण का दांव, कही यह बात...

इससे पहले शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने आरोप लगाया और कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कृषि सुधार विधेयकों को लेकर भाजपा नेतृत्व को पार्टी की चिंताओं से अवगत कराने के बावजूद मुद्दों को सुलझाया नहीं गया. बता दें कि शिवसेना और भाजपा के बीच मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर पेंच फंसा था. इसके बाद शिवसेना ने कांग्रेस और NCP का दामन थाम लिया था.