नयी दिल्ली: आप ने दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर कांग्रेस के साथ गठबंधन की संभावनाओं को खारिज करते हुये कहा है कि लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में सोमवार को हुयी आप नेताओं की बैठक में यह मुद्दा नहीं उठाया गया. बैठक के बाद पार्टी नेता संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली में पूर्ण राज्य की मांग को मुख्य चुनावी मुद्दा बनाकर पार्टी जनता के बीच जायेगी. उन्होंने कांग्रेस के साथ गठबंधन के सवाल पर इसकी गुंजाइश को खारिज करते हुये सिंह ने कहा ‘‘आज की बैठक में भी यह मुद्दा नहीं उठाया गया.’’

उल्लेखनीय है कि आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने भी सोमवार को यह कह कर गठबंधन की संभावनाओं को नकार दिया था कि पार्टी सभी सात सीटों पर अपने बलबूते चुनाव लड़ेगी. केजरीवाल की अध्यक्षता में हुयी बैठक में राय भी मौजूद थे. सिंह ने बताया कि केजरीवाल ने आप की दिल्ली इकाई के नेताओं को चुनाव प्रचार अभियान में जनता के बीच दिल्ली के पूर्ण राज्य की मांग के मुद्दे को ही प्रमुखता से ले जाने का संदेश दिया. उन्होंने बताया कि केजरीवाल मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन कर पार्टी की चुनाव प्रचार अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे.

गुजरात में कांग्रेस को फिर झटका, एक और विधायक ने दिया इस्तीफा, दूसरे ने जॉइन की बीजेपी

पार्टी के एक अन्य वरिष्ठ नेता ने गठबंधन की संभावनाओं को खत्म करने के लिये कांग्रेस नेताओं के नकारात्मक और अव्यवहारिक रवैये को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित भले ही गठबंधन का विरोध कर रही हों लेकिन इस मुद्दे पर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व की मंशा भिन्न है. उन्होंने दलील दी कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ संवाद के दौरान गठबंधन के बारे में कुछ भी नकारात्मक नहीं कहा. गांधी ने सिर्फ सातों सीट जीतने का पार्टी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया है.