बेंगलुरु: तमिलनाडु की दिवंगत सीएम जयललिता की सबसे करीबी सहेली और ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (अन्नाद्रमुक) की नेता वी.के. शशिकला को जेल से पति के संस्‍कार में शामिल होने का पैरोल मिल गया. इसके बाद अपने पति एम.नटराजन के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार दोपहर बाद तमिलनाडु के तंजावुर के लिए रवाना हो गईं. 60 साल की शशिकला सेन्‍ट्रल जेल से निजी कार से रवाना हुईं. उन्‍हें जेल में जैसे ही पति के निधन की खबर मिली तो सुनते ही  बदहवास होकर गिर गई थीं.Also Read - आयकर विभाग ने VK शशिकला की संपत्ति कुर्क की, जानें किस मामले में हुई कार्रवाई...

15 दिन का पैरोल मिला
शशिकला को 15 दिनों का पैरोल मिला है. बेंगलुरू सेन्‍ट्रल जेल के मुख्य अधीक्षक एम.सोमशेखर ने बताया, “उन्हें 15 दिनों की पैरोल दी गई है. इस अवधि के दौरान उन्हें सिर्फ तंजावुर जाने और किसी भी तरह की राजनीतिक गतिविधि में हिस्सा नहीं लेने के निर्देश दिए गए हैं.” Also Read - Assembly Polls 2021: तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव से पहले शशिकला का राजनीति से संन्यास का ऐलान, कहा- 'कभी सत्ता या पद की नहीं रही चाह'

अस्‍पताल में हुई पति की मौत
नटराजन (74) का मंगलवार को चेन्नई के एक अस्पताल में निधन हो गया. उन्हें छाती में संक्रमण के बाद 16 मार्च को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वह तब से वेंटिलेटर पर थे. उनके पार्थिव शरीर को चेन्नई से लगभग 350 किलोमीटर दूर तंजावुर जिले में उनके पैतृक गांव ले जाया गया है. Also Read - चार साल जेल की सजा काट तमिलनाडु पहुंची शशिकला, भव्य स्वागत के लिए पटाखे ले जा रही दो गाड़ियों में लगी आग

एक सप्‍ताह पहले खारिज हुई थी पैरोल अर्जी
नटराजन के निधन के बाद जेल विभाग ने उन्हें पैरोल दे दी, जबकि एक सप्ताह पहले ही उनकी पैरोल की याचिका खारिज हो गई थी. शशिकला को इससे पहले 6 अकटूबरसे 12 अक्टूबर तक 5 दिनों की पैरोल दी गई थी. (इनपुट- एजेंसी)