नई दिल्‍ली: महाराष्ट्र की सतारा लोकसभा सीट उपचुनाव के लिए पहले चरण की गिनती में भाजपा प्रत्याशी उदयनराजे भोसले राकांपा प्रत्याशी श्रीनिवास पाटिल से 1,089 मतों से पीछे चल रहे हैं. बता दें कि इस सीट से एनसीपी से सांसद रहे शिवाजी महाराज के वंशज उदयनराजे भोसले ने कुछ महीने पहले लोकसभा की सदस्‍यता से इस्‍तीफा देने के बाद राकांपा छोड़कर भाजपा ज्‍वाइन कर ली थी. लोकसभा सीट पर बीजेपी की ओर उदयन भोसले उम्‍मीदवार हैं, जबकि मराठा दिग्‍गज नेता शरद पवार की राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) की ओर से श्रीनिवास पाटिल उम्‍मीदवार हैं. गुरुवार को सुबह 8 बजे से इस उपचुनाव की मतगणना चल रही है.

विधानसभा चुनाव के साथ ही महाराष्ट्र की सातारा लोकसभा का उपचुनाव 21 अक्‍टूबर को कराया गया. बता दें सातारा लोकसभा क्षेत्र के लिए भी उपचुनाव में 67.15 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था.

बता दें कि 78 साल के एनसीपी प्रमुख ने शरद पवार ने 18 अक्‍टूबर की शाम को भारी बारिश के बीच सतारा में रैली को संबोधित किया था. बारिश में पूरी तरह भीगे पवार (78) ने अपने संक्षिप्त भाषण के दौरान कहा कि उन्होंने इस साल की शुरुआत में हुए लोकसभा चुनाव में उम्मीवारों के चयन में एक गलती की, लेकिन अब लोग उस गलती को सुधारने का इंतजार कर रहे हैं.

पवार ने सभा में कहा था, ” इंद्रदेव ने 21 अक्टूबर को होने वाले चुनाव के लिए राकांपा को आशीर्वाद दिया है और इंद्र देव के आशीर्वाद से, सतारा जिला महाराष्ट्र में एक चमत्कार करेगा. वह चमत्कार 21 अक्टूबर से शुरू होगा.” एनसीपी चीफ ने कहा था, जब कोई गलती करता है, तो उसे स्वीकार करना चाहिए. मैंने लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार का चयन करते समय एक गलती की. मैं इसे सार्वजनिक रूप से स्वीकार करता हूं. लेकिन मुझे खुशी है कि गलती को सुधारने के लिए, सतारा का हर युवा और बुजुर्ग 21 अक्टूबर का इंतजार कर रहा है.”