नई दिल्ली: कई महीनों तक चले विवाद के बाद डोकलाम क्षेत्र में एक बार फिर चीन ने घुसपैठ शुरू कर दी है. इतना ही नहीं इस बार सेटेलाइट तस्वीरों से इस बात का खुलासा हुआ है कि चीन ने विवादित क्षेत्र के पास आर्मी कॉम्पलेक्स और हैलीपैड तक का निर्माण कर लिया है. इन तस्वीरों से इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में चीनी टैंक और आर्मी के टेंट होने की पुष्टि हुई है. Also Read - US-China Conflict News: राष्ट्रपति ट्रम्प ने हांगकांग को मिलने वाली विशेष तरजीह खत्म की

Also Read - अब अमेरिका से भिड़ा चीन, बोला- एक हजार साल से दक्षिण चीन सागर हमारा है

गूगल अर्थ की मदद से ली गई एक तस्वीर में भारतीय दूतावास से 81 मीटर की दूरी पर एक चीनी संरचना दिखाई पड़ती है, यहां 100 से ज्यादा बड़े सैनिक उपकरण/वाहन की उपस्थिति पुख्ता हुई है. बताया जा रहा है उत्तरी डोकलाम क्षेत्र में चीन बड़ी संख्या में लड़ाकू चौकियों का निर्माण कर रहा है और यहां मौजूदा सड़कों को चौड़ा करने का काम चल रहा है. Also Read - पूर्वी लद्दाख विवाद: भारत-चीन के आर्मी कमांडरों के बीच आज चुशुल में हाईलेविल मीटिंग

यह भी पढ़ें: डोकलाम विवादः भारत का पक्ष नहीं लेगा अमेरिका, बोला- दोनों देश सीधी वार्ता करें

हाल ही में कुछ दिनों पहले भारत के सेना अध्यक्ष विपिन रावत ने डोकलाम क्षेत्र में विशेष सतर्कता बरतने की बात कही थी. उन्होंने कहा था कि सर्दियां खत्म होने के साथ ही डोकलाम क्षेत्र में एक बार फिर चीनी सैनिक वापस आ सकते हैं. उन्होंने उस वक्त भी डोकलाम में चीनी सैनिकों के होने का अंदेशा जताया गया था, जबकि 73 दिन तक चले डोकलाम विवाद के बाद 28 अगस्त को दोनों देशों की सेनाओं ने पीछे हटने की घोषणा कर दी थी. ऐसे में सेटेलाइट से खींची गईं तस्वीरें जनरल रावत की आशंका को पुख्ता कर देती हैं.

बता दें पिछले दिनों आई कई रिपोर्टों में ऐसा दावा किया गया था कि डोकलाम क्षेत्र में चीन कई सुरंग और बैरकों का निर्माण कर रहा है. इसके अलावा हमारे सहयोगी चैनल जी न्यूज ने अपनी विशेष रिपोर्ट में ये बात बताई थी कि चीन ने बड़े पैमाने पर हो रहे निर्माण को छिपाने के लिए 400 मीटर की दीवार भी बनाई है. हांलाकि विदेश मामलों के मंत्रालय ने ऐसी रिपोर्टों को पूरी तरह खारिज कर दिया था.