नई दिल्ली| ऊना के विधायक सतपाल सत्ती प्रदेश बीेजेपी के अध्यक्ष व प्रमुख नेता हैं. किसान परिवार से आने वाले सत्ती ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत उन्होंने छात्र राजनीति से की व प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष तक का सफ़र तय किया. 1988 में वह एबीवीपी  में शामिल हुए और 2012 में बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बने. 2003, 2007 व 2012 में ऊना से विधायक चुने गये. Also Read - Rajya Sabha Election 2020: पासवान की राज्यसभा सीट से होगी भाजपा और जदयू के बीच भरोसे की परीक्षा

विकास के लिए तरसता ऊना
ऊना बीजेपी का मजबूत गढ़ रहा है. देशराज यहां के लोकप्रिय विधायक रहे हैं लेकिन पिछली तीन विधानसभा से सत्तपाल सिंह सत्ती लगातार चुनाव जीत रहे हैं. कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता वीरेन्दर गौतम की मृत्यु के बाद यहाँ और कोई कांग्रेस नेता नहीं उभर सका जिसका लाभ यहाँ बीजेपी उठाती रही है. Also Read - 'महाराष्ट्र में अगले 2-3 माह में सरकार बना लेगी बीजेपी, तैयारी हो गई है'

इसके ग्रामीण इलाके अभी भी विकास के लिए तरस रहे हैं. जबकि ऊना में लगातार तीन बार से चुनाव जीतने वाले सतपाल सिंह सत्ती ने अपनी उपलब्धियों को भी गिनाने से नहीं चूकते.

Bjp cm candidate prem kumar dhumal profile |  पहला चुनाव ही हार गया था यह नेता, जानिए प्रेम कुमार धूमल का सियासी सफर

Bjp cm candidate prem kumar dhumal profile | पहला चुनाव ही हार गया था यह नेता, जानिए प्रेम कुमार धूमल का सियासी सफर

Also Read - लव जिहाद पर बोलीं TMC सांसद नुसरत जहां- प्यार लोगों का निजी मामला, इसपर हुक्म नहीं चलाया जा सकता

उन्होंने कहा कि शिक्षा का स्तर ऊना में सुधारने का लक्ष्य पूरा किया है. वहीं उन्होंने इंडोर स्टेडियम बनाने का भी श्रेय लिया. इसके साथ ही उन्होंने 7 डबल लेन सड़कें बनाने का भी दावा किया. आपको बता दे कि ऊना विधानसभा से कांग्रेस ने भी सतपाल रायजादा को मैदान में उतारा है. अब देखना होगा कि कौन सा सतपाल मैदान मारने में सफल रहता है.