नई दिल्ली/मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार गठन पर सुप्रीम कोर्ट आज मंगलवार को सुबह करीब 10:30 बजे फैसला सुनाएगा, जिससे बहुमत का दावा कर रही बीजेपी के मुख्‍यमंत्री के पद की शपथ ले चुके देवेंद्र फडणवीस, अजित पवार के सियासी कदम, एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना बहुमत के दावे के लिए वैधानिक प्रक्र‍िया का रास्‍ता तय हो सकेगा. कोर्ट ने याचिका पर 80 मिनट की सुनवाई के बाद अपना फैसला मंगलवार तक के लिए सुरक्ष‍ित रख लिया था. वहीं, शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस ने बहुमत से ज्‍यादा विधायकों की संख्‍या का दावा किया है, जबकि बीजेपी ने इस दावे का मजाक उड़ाते हुए अपनी ताकत फ्लोर टेस्‍ट में दिखाने के लिए कहा है.

बता दें सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की संयुक्‍त याचिका पर मंगलवार तक के लिए अपना फैसला सुरक्ष‍ित रख लिया था.

सरकार गठन के लिए भाजपा को आमंत्रित करने और देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाए जाने के खिलाफ याचिका पर 80 मिनट की सुनवाई के बाद जस्टिस एन वी रमण, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की तीन सदस्यीय पीठ ने कहा कि मंगलवार की सुबह फैसला सुनाया जाएगा.

महाराष्ट्र में अप्रत्याशित राजनीतिक घटनाक्रम में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यिारी ने 23 नवंबर को शनिवार की सुबह भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजित पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी.

मुंबई में सोमवार को विपक्षी दलों कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना ने एक होटल के सामने विधायकों की अभूतपूर्व सार्वजनिक परेड कराकर 162 विधायकों के समर्थन का दावा किया था. सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से एक दिन पहले तीनों दलों गठजोड़ ने अपनी ताकत दिखाते हुए 162 विधायकों की परेड कराई.

राकांपा प्रमुख शरद पवार ने इकट्ठा विधायकों से कहा कि वह निजी तौर पर सुनिश्चित करेंगे कि महाराष्ट्र विधानसभा में शक्ति परीक्षण के दौरान भाजपा के खिलाफ वोटिंग करने पर किसी की भी सदस्यता ना जाए. राकांपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा ने गोवा और अन्य राज्यों में सत्ता बनाने के लिए असंवैधानिक तरीके अपनाए. पवार ने कहा, महाराष्ट्र,गोवा नहीं है और यह समय उन्हें सबक सिखाने का है.

वहीं, बीजेपी ने शिवसेना-राकांपा और कांग्रेस के विधायकों की यहां परेड कराकर किए गए संयुक्त शक्ति प्रदर्शन पर निशाना साधते हुए सोमवार को कहा कि विधानसभा के पटल पर उनकी पार्टी ही आखिरी जीत दर्ज करेगी.  (इनपुट: एजेंंसी)