हरिद्वार 'धर्म संसद' का मामला: SC कल स्वतंत्र जांच की याचिका पर करेगा सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट में 12 जनवरी को हरिद्वार 'धर्म संसद' आपत्तिजनक भाषण के मामले की स्वतंत्र जांच की मांग वाली याचिका पर सुनवाई होगी. मुख्य न्यायाधीश एन.वी.रमना की अध्यक्षता वाली पीठ मामले की सुनवाई करेगी

Published: January 11, 2022 7:42 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Laxmi Narayan Tiwari

Haridwar, Supreme Court, SC, Dharm Sansad, Uttarakhand, Hindu, Muslims
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में कल बुधवार को ( 12 जनवरी) को हरिद्वार ‘धर्म संसद’ (Haridwar ‘Dharm Sansad’) के आयोजन के दौरान आपत्तिनजक भाषण के मामले की स्वतंत्र जांच की मांग वाली याचिका पर सुनवाई होगी. मुख्य न्यायाधीश एन.वी.रमना की अध्यक्षता वाली पीठ मामले की सुनवाई करेगी. बता दें कि जमीयत उलेमा ए हिंद ने सोमवार यानि 10 जनवरी को उच्चतम न्यायालय में एक नई याचिका दायर की थी, जिसमें मुस्लिम विरोधी भाषणों और राष्ट्रीय राजधानी तथा उत्तराखंड के हरिद्वार में आयोजित हुए धर्म संसद जैसे कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया गया था.

Also Read:

याचिका में कहा गया है कि उन लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए जो कथित तौर पर मुस्लिमों के जनसंहार की धमकी देते हैं. याचिका में कहा गया, हाल में सरकार की नाक के नीचे हरिद्वार और दिल्ली में हुए कार्यक्रमों में न केवल खुलकर उकसाया गया बल्कि जानबूझकर बहुसंख्यकों को मुस्लिमों की हत्या करने के लिए उकसाने की साजिश रची गई ताकि ‘हिंदू राष्ट्र’की स्थापना की जा सके. लेकिन दुर्भाग्य से इन दोनों मामलों में अभी तक कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई है.

जमीयत के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि राज्य और केंद्र की कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने अपना दायित्व नहीं निभाया, जिससे पूरे देश में बेहद चिंताजनक स्थिति बन गई है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 11, 2022 7:42 PM IST