नई दिल्ली: केंद्र और ममता बनर्जी नीत पश्चिम बंगाल सरकार के बीच टकराव की स्थिति पैदा होने के बाद सीबीआई ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया. सुप्रीम कोर्ट अब मंगलवार को इस मामले की सुनवाई करेगी. सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई के दौरान कहा कि कोलकाता के पुलिस कमिश्नर के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं तो कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार है. सुप्रीम कोर्ट में CBI की याचिका पर सुनवाई के दौरान CJI रंजन गोगोई ने कहा कि अगर कोलकाता पुलिस कमिश्नर सबूत नष्ट करने के बारे में सोचते भी हैं सीबीआई कोर्ट के सामने सबूत पेश करे. हम ऐसी कार्रवाई करेंगी कि उन्हें पछताना पड़ेगा.

बता दें कि शारदा चिटफंड घोटाला मामले से जुड़े इलेक्ट्रॉनिक सबूत नष्ट करने का आरोप लगाते हुए जांच एजेंसी सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी. सॉलिसिटर जनरल ने आरोप लगाया कि कोलकाता में रविवार रात वरिष्ठ पुलिसकर्मी वर्दी पहने हुए नेताओं के साथ धरने पर बैठे थे. सुप्रीम कोर्ट शारदा मामले में कोलकाता पुलिस अधिकारियों के खिलाफ अवमानना और इलेक्ट्रॉनिक सबूत नष्ट करने के आरोप लगाने संबंधी सीबीआई की याचिका पर अब मंगलवार को सुनवाई करेगी. कोर्ट ने कहा कि शारदा मामले में सभी सबूतों, सामग्री को शपथपत्र के माध्यम से पेश किया जाए.

वहीं दूसरे तरफ चिटफंड घोटाला मामले में कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से सीबीआई के पूछताछ की कोशिश के खिलाफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का धरना सोमवार को भी जारी है. ममता इसे “संवैधानिक नियमों पर हमला” करार देते हुए रविवार रात करीब 8.30 बजे से धरने पर बैठी हुई हैं. सोमवार सुबह वह धरना स्थल पर तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के साथ बात करती दिखीं. पश्चिम बंगाल की ताकतवर नेता के रविवार को मेट्रो सिनेमा के सामने धरने पर बैठने के बाद केंद्र और ममता बनर्जी सरकार के बीच तनाव बढ़ गया.

धरने के चलते मेट्रो सिनेमा के आसपास कुछ जगहों पर वाहनों की आवाजाही पर पाबंदी लगाई गई है. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख कह चुकी हैं कि वह सोमवार को विधानसभा में बजट पेश होने के दौरान उपस्थित नहीं रहेंगी. उससे पहले, मंच के पीछे बने एक अस्थाई कमरे में कैबिनेट की बैठक होगी. तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि बनर्जी का यहां एक इंडोर स्टेडियम में पार्टी के किसान मोर्चे से मुलाकात करने का भी कार्यक्रम था. हालांकि वह वहां नहीं जा सकेंगी और पार्टी के अन्य नेता बैठक को संबोधित करेंगे.

समाजवादी पार्टी नेता किरणमय नंदा ने धरनास्थल पर पहुंचकर मामले में ममता बनर्जी के साथ एकजुटता दिखाई. इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव समेत कई राष्ट्रीय नेताओं ने रविवार रात ममता बनर्जी से फोन पर बात की. ममता बनर्जी ने घटना को “संविधान और संघवाद” की भावना को कलंकित करने वाला बताते दावा किया कि सीबीआई बिना सर्च वारंट के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के घर पहुंची थी.