School-College latest News लगभग तीन महीने का वक्त होने वाला है जब देश के सभी स्कूल और कॉलेज कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से बंद हैं. अब अभिभावकों और छात्रों का यह इंतजार खत्म होने वाला है. रविवार को मानव संसाधन और विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Minister Ramesh Pokhriyal) ने बताया कि अगस्त में स्कूल और कॉलेज खोल दिए जाएंगे. उन्होंने कहा कि देश में अभी तक हुई परीक्षाओं का परिणाम 15 अगस्त तक आ जाएगा और इसके बाद शिक्षण कार्य के लिए फिर से स्कूल कॉलेज खोल दिए जाएंगे. Also Read - MP Lockdown: एमपी में वीकेंड के दो दिन के लॉकडॉउन में बदलाव, रात का कर्फ्यू जारी

केंद्रीय एचआरडी मंत्री ने बीते 3 जून को एक इंटरव्‍यू में कहा था कि स्‍कूल और कॉलेज जो 16 मार्च से बंद थे, उन्‍हें 15 अगस्‍त 2020 में खोल दिया जाएगा. बता दें कि मई के अंत में कई ऐसी खबरें आईं जिनमें लगातार यह कहा जा रहा था कि जुलाई में संभवतः स्कूल कॉलेज खोल दिए जाएं लेकिन अब इन सभी खबरों पर केंद्रीय मंत्री ने विराम लगा दिया है. Also Read - Alert: लॉकडाउन के तीन महीनों में इस राज्य में आत्महत्या के मामले दोगुने...

सूत्रों की मानें तो अगस्त में स्कूल कॉलेज को बदले हुए नियमों के साथ खोला जा सकता है. देश में कोरोना का प्रसार तेजी से फैल रहा है इसलिए यह ध्यान में रखा जाएगा कि सभी छात्र सुरक्षित रहें. इसलिए इस बात की बहुत ज्यादा संभावना है कि स्कूल कॉलेज के नियमों में एक व्यापक बदलाव देखा जा सकता है. Also Read - ममता बनर्जी को 5 अगस्त को लॉकडाउन वापस न लेने की कीमत चुकानी पड़ेगी: बीजेपी

कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि स्‍कूल और कॉलेज 33 फीसदी की उपस्थिति के आधार पर खोले जाएंगे. फिलहाल अभी सरकार की तरफ से दिशा निर्देश को लेकर किसी तरह की जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन आइए जानते हैं अगर अगस्त में स्कूल और कॉलेज खुलते हैं तो कौन -कौन से बड़े बदलाव हो सकते हैं.

क्लास रूम में छात्रों को संख्या को कम किया जा सकता है. कक्षा में छात्रों के बीच में उचित दूरी भी निर्धारित की जा सकती है.

स्कूल और कॉलेज को शुरू करने से पहले उन्हें अच्छी तरह से सेनेटाइज करने के भी निर्देश दिए जा सकते हैं ताकि क्वारंटीन सेंटर बनाए गए केंद्रों से संक्रमण पूरी तरह से समाप्त हो सके.

कक्षा में को प्रवेश से पहले सेनेटाइजर के प्रयोग को लागू किया जा सकता है.

स्कूल परिसर में और क्लास में मास्क पहनना अनिवार्य हो सकता है. एक रिपोर्ट में कहा गया है स्कूल में थर्मल स्कैनर लगाए जाएंगे.

मास्क और गलब्स सभी लोगों के लिए आवश्यक रूप से अनिवार्य किया जा सकता है.

स्कूल बसों के लिए नए नियम निर्धारित किए जा सकते हैं जैसे – छात्रों की संख्या को घटाया जा सकता है और ड्राइवर सहित बच्चों को मास्क पहनना जरूरी होगा.

मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि इस सत्र से 15 अगस्त तक सभी परीक्षाओं के परिणाम घोषित करने की कोशिश कर रहे हैं. मंत्री ने कहा CBSE बोर्ड परीक्षा 1 जुलाई से 15 जुलाई तक आयोजित की जाएगी, ICSE / ISC परीक्षा 1 जुलाई से शुरू होकर 12 जुलाई तक चलेगी.

बता दें की बीते 5 जून को एचआरडी सचिव ने कहा था कि कोरोना वायरस संकट के काेरण देश में 24 करोड़ से अधिक बच्चे प्रभावित होंगे और लॉकडाउन हटने के बाद शिक्षकों एवं छात्रों को बदली परिस्थितियों के अनुरूप स्वयं को ढालना होगा.