School Kab Khulenge: केंद्र सरकार की तरफ से बुधवार देर शाम Unlock 5 की गाइडलाइंस (Unlock 5 Full Guidelines) जारी कर दी गई है. केंद्र सरकार ने अनलॉक 5 की गाइडलाइंस (Unlock 5 Guidelines) जारी करते हुए यह कहा कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश यह तय कर सकते हैं कि वे 15 अक्टूबर के बाद स्कूलों, कॉलेजों और कोचिंग संस्थानों को क्रमबद्ध तरीके से फिर से खोलना चाहते हैं या नहीं. गृह मंत्रालय ने कहा, ‘निर्णय संबंधित स्कूल/ संस्थान प्रबंधन के परामर्श से लिया जाएगा.’ Also Read - Unlock 6.0: सात महीने बाद भी पूरी तरह से नहीं मिलेगी राहत, जानें स्कूल से लेकर मॉल तक क्या खुलेगा क्या रहेगा बंद

सरकार ने गाइडलाइंस में कहा कि ऑनलाइन और डिस्टेंस एजुकेशन (Online And Distance Education) हालांकि शिक्षण का पसंदीदा तरीका बने रहना चाहिए. सरकार ने कहा, ‘जहां स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं संचालित कर रहे हैं और कुछ छात्र फिजिकल रूप से उपस्थित होने के बजाय ऑनलाइन कक्षाओं (Online Class) में भाग लेना पसंद करते हैं, उन्हें ऐसा करने की अनुमति दी जा सकती है.’

सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइंस के बाद अब स्कूल खोलने को लेकर जानिये क्या है राज्य सरकारों की तैयारी. बता दें कि कई राज्य सरकारों ने कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए स्कूलों को फिलहाल बंद रखने का ही फैसला लिया है..

दिल्ली (Delhi School Reopening News)
दिल्ली में 21 सितंबर से स्कूल खुलने की बात कही जा रही थी, लेकिन केजरीवाल सरकार ने 5 अक्टूबर तक सभी स्कूलों को बंद रखने का फैसला किया है. राज्य के सरकारी समेत, निगम, एनडीएमसी, दिल्ली कैंट से संबद्ध व निजी स्कूलों पर भी बंदी का यह आदेश लागू रहेगा और फिर 5 अक्टूबर के बाद ही यहां स्कूल खोलने पर फैसला होगा.

केरल  (Kerala School Reopening News)
केरल में भी कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से अक्टूबर तक स्कूल नहीं खोलने का फैसला लिया गया है. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्य में अक्टूबर में भी स्कूल-कॉलेज नहीं खोले जा सकते हैं.

पंजाब (Punjab School Reopening News)
पंजाब में भी लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर नहीं खोले जाएंगे. सरकार अभी यहां बच्चों को स्कूल व कॉलेज बुलाने का खतरा नहीं लेना चाहती है. इसलिए राज्य में सभी शिक्षण संस्थान को बंद रखने का निर्णय लिया गया है. आगे की स्थिति को देखकर ही फैसला लिया जाएगा.

उत्तराखंड (Uttrakhand School Reopening News)
उत्तराखंड में भी पहले 21 सितंबर से ही स्कूल खोलने की तैयारी थी, लेकिन लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले के कारण पैरंट्स और टीचर अभी स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं हैं. ऐसे में प्रदेश सरकार ने 30 सितंबर तक स्कूल बंद रखने केनिर्देश दिए थे. अब केंद्र की तरफ से जारी दिशा निर्देशों के बाद कोरोना की स्थिति को देखकर आगे फैसला लिया जाएगा.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh School Reopening News)
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने बताया कि अभी स्कूलों को नहीं खोला जाएगा. कोरोना संक्रमण की स्थिति ठीक होने पर ही स्कूल खोलने पर विचार किया जाएगा. कोरोना के मामलों की समीक्षा के बाद ही स्कूल-कॉलेजों को खोलने पर दोबारा फैसला लिया जाएगा. उधर, प्रयागराज जिले में उत्तर प्रदेश बोर्ड (UP Board) के एक हजार माध्यमिक स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों में से 80 फीसदी के माता-पिता कोविड-19 महामारी के बीच अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार नहीं हैं. एक सर्वे में यह बात सामने आई है.

कर्नाटक (Karnataka School Reopening News)
राज्य के शिक्षामंत्री ने कहा है कि स्कूलों को फिर से खोलने के लिए अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है. उन्होंने बताया कि वर्तमान में सरकार के पास ऐसी कोई योजना नहीं है. हम विधायकों, सांसदों और संबंधित लोगों की राय ले रहे हैं. हम शिक्षा विशेषज्ञों और संस्थानों के साथ भी चर्चा करेंगे. इसके बाद ही इस पर फैसला लिया जाएगा.

त्रिपुरा (Tripura School Reopening News)
त्रिपुरा के सभी सरकारी और सहायता प्राप्त स्कूल 5 अक्टूबर (School Reopen from 5 October) से फिर से खुलेंगे जो कोविड -19 महामारी के कारण मार्च से बंद थे. यह निर्णय सिविल सचिवालय में शिक्षा विभाग (Education Department) की एक उच्च-शक्ति समिति की बैठक में लिया गया, जिसमें त्रिपुरा विश्वविद्यालय (केंद्रीय) और महाराजा बीर बिक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति और प्राथमिक और उच्च शिक्षा विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया था.

बिहार (Bihar School Reopening News)
बिहार में लगभग छह महीने बाद 28 सितंबर से स्कूल खोल दिए गए हैं. शिक्षकों से विभिन्न विषयों में मार्गदर्शन लेने के लिए छात्र अभिभावकों से अनुमति लेकर ही स्कूल आ सकेंगे. सरकार के इस फैसले के तहत सप्ताह में बच्चों को सिर्फ दो दिन ही स्कूल आना होगा. इस दौरान 50% टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ भी स्कूल आएंगे. सरकार का यह आदेश निजी और सरकारी दोनों स्कूलों पर लागू होगा.