School Reopen in Unlock 5.0 News: देश में 1 अक्टूबर से अनलॉक 5 (Unlock 5) की शुरुआत हो रही है. इस दौरान लोगों में सबसे ज्यादा उत्सुकता स्कूलों-कॉलेजों के खुलने को लेकर है. हालांकि कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए स्कूल-कॉलेज खोलने को लेकर संशय की स्थिति बनी है. इस बीच 21 सितंबर से देश के कई राज्यों में आंशिक तौर से स्कूल (School Reopening News) खोले जा चुके हैं, लेकिन अभी भी ज्यादातर राज्यों में स्कूल बंद है. उम्मीद है कि सरकार स्कूल कॉलेज को सुचारू रूप से खोलने के लिए अनलॉक 5.0 की (School-Colleges Reopen in Unlock5) गाइडलाइंस में कुछ नियम तय करेगी, क्योंकि स्कूल-कॉलेज बीते 6 महीने से बंद है.Also Read - Khul Gaye School: कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, इन राज्यों ने खोल दिए स्कूल, यहां भी खुलेंगे स्कूल, जानिए..

21 सितंबर से 9वीं से 12वीं क्लास तक के छात्रों के लिए स्कूल स्वैच्छिक आधार पर शुरू हो चुके हैं. अगले महीने भी ऐसा ही जारी रहने की संभावना जताई जा रही है. कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए अगले महीने भी प्राथमिक कक्षाएं बंद रहने की ही उम्मीद है. इसे ऑनलाइन मोड के माध्यम से ही जारी रखा जा सकता है. अनलॉक 5.0 की गाइडलाइंस (Unlock 5 Guidelines)में हालांकि ऊपरी क्लास के बच्चों को पहले की तरह सभी क्लासेस के लिए अनुमति दी जा सकती है. कई राज्यों ने स्कूलों को खोला है तो कइयों ने एहतियात इसे बंद रखा है. उधर, विश्वविद्यालयों और कॉलेजों ने प्रवेश परीक्षाएं शुरू कर दी हैं और नया शैक्षणिक वर्ष ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से शुरू हो सकता है. Also Read - UP Me Kab Khulenge School: यूपी में इस दिन से खुलेंगे स्कूल, योगी सरकार का बड़ा फैसला

दिल्ली में 5 अक्टूबर तक बंद रहेंगे स्कूल
दिल्ली में 21 सितंबर से स्कूल खुलने की बात कही जा रही थी, लेकिन केजरीवाल सरकार ने अपने फैसले में संशोधन करते हुए 5 अक्टूबर तक स्कूल बंद रखने का फैसला किया है. राज्य के सरकारी समेत, निगम, एनडीएमसी, दिल्ली कैंट से संबद्ध व निजी स्कूलों पर भी बंदी का यह आदेश लागू रहेगा और फिर 5 अक्टूबर के बाद ही यहां स्कूल खोलने पर फैसला होगा. Also Read - Kab Khulenge School: आठ राज्यों में खुल चुके हैं स्कूल, अगस्त में इन प्रदेशों में भी लगेंगी कक्षाएं

केरल
केरल में भी कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से अक्टूबर तक स्कूल नहीं खोलने का फैसला लिया गया है. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्य में सितंबर या अक्टूबर में स्कूल-कॉलेज नहीं खोले जा सकते हैं.

पंजाब
पंजाब में भी लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर नहीं खोले जाएंगे. सरकार अभी यहां बच्चों को स्कूल व कॉलेज बुलाने का खतरा नहीं लेना चाहती है. इसीलिए राज्य में सभी शिक्षण संस्थान को बंद रखने का निर्णय लिया गया है. आगे की स्थिति को देखकर ही फैसला लिया जाएगा.

उत्तराखंड
उत्तराखंड में भी पहले 21 सितंबर से ही स्कूल खोलने की तैयारी थी, लेकिन लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले के कारण पैरंट्स और टीचर अभी स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं हैं. ऐसे में प्रदेश सरकार ने 30 सितंबर तक स्कूल बंद रखने केनिर्देश दिए हैं. कोरोना की स्थिति को देखकर आगे फैसला किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने बताया कि अभी स्कूलों को नहीं खोला जाएगा. कोरोना संक्रमण की स्थिति ठीक होने पर ही स्कूल खोलने पर विचार किया जाएगा. कोरोना के मामलों की समीक्षा के बाद ही स्कूल-कॉलेजों को खोलने पर दोबारा फैसला लिया जाएगा. उधर, प्रयागराज जिले में उत्तर प्रदेश बोर्ड (UP Board) के एक हजार माध्यमिक स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों में से 80 फीसदी के माता-पिता कोविड-19 महामारी के बीच अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार नहीं हैं. एक सर्वे में यह बात सामने आई है.

कर्नाटक
राज्य के शिक्षामंत्री ने कहा है कि स्कूलों को फिर से खोलने के लिए अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है. उन्होंने बताया कि वर्तमान में सरकार के पास ऐसी कोई योजना नहीं है. हम विधायकों, सांसदों और संबंधित लोगों की राय ले रहे हैं. हम शिक्षा विशेषज्ञों और संस्थानों के साथ भी चर्चा करेंगे. इसके बाद ही इस पर फैसला लिया जाएगा.

त्रिपुरा
त्रिपुरा के सभी सरकारी और सहायता प्राप्त स्कूल 5 अक्टूबर (School Reopen from 5 October) से फिर से खुलेंगे जो कोविड -19 महामारी के कारण मार्च से बंद थे. यह निर्णय सिविल सचिवालय में शिक्षा विभाग (Education Department) की एक उच्च-शक्ति समिति की बैठक में लिया गया, जिसमें त्रिपुरा विश्वविद्यालय (केंद्रीय) और महाराजा बीर बिक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति और प्राथमिक और उच्च शिक्षा विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया था.

बिहार
बिहार में लगभग छह महीने बाद 28 सितंबर से स्कूल खोल दिए गए हैं. शिक्षकों से विभिन्न विषयों में मार्गदर्शन लेने के लिए छात्र अभिभावकों से अनुमति लेकर ही स्कूल आ सकेंगे. सरकार के इस फैसले के तहत सप्ताह में बच्चों को सिर्फ दो दिन ही स्कूल आना होगा. इस दौरान 50% टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ भी स्कूल आएंगे. सरकार का यह आदेश निजी और सरकारी दोनों स्कूलों पर लागू होगा.