School Reopening Guidelines In Unlock 5.o: देश में जारी कोरोना संकट (Coronavirus) के बीच Unlock 5.0 की शुरुआत हो चुकी है. केंद्र सरकार की तरफ से बुधवार देर शाम Unlock 5 की गाइडलाइंस (Unlock 5 Full Guidelines) जारी कर दी गई है. अनलॉक 5.0 की Guidelines जारी होने से पहले लोगों में सबसे ज्यादा उत्सुकता स्कूलों और कॉलेजों (School college Opening News) को खोलने को लेकर थी. सरकार ने इसे लेकर गाइडलाइंस भी जारी कर दी. केंद्र सरकार ने अनलॉक 5 की गाइडलाइंस (Unlock 5 Guidelines) जारी करते हुए यह कहा कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश यह तय कर सकते हैं कि वे 15 अक्टूबर के बाद स्कूलों, कॉलेजों और कोचिंग संस्थानों को क्रमबद्ध तरीके से फिर से खोलना चाहते हैं या नहीं. गृह मंत्रालय ने कहा, ‘निर्णय संबंधित स्कूल/ संस्थान प्रबंधन के परामर्श से लिया जाएगा.’ Also Read - School Reopening News: 15 स्कूली छात्रों समेत 58 लोगों के संक्रमित होने के बाद इस राज्य में फिर बंद किये गए स्कूल

सरकार ने गाइडलाइंस में कहा कि ऑनलाइन और डिस्टेंस एजुकेशन (Online And Distance Education) हालांकि शिक्षण का पसंदीदा तरीका बने रहना चाहिए. सरकार ने कहा, ‘जहां स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं संचालित कर रहे हैं और कुछ छात्र फिजिकल रूप से उपस्थित होने के बजाय ऑनलाइन कक्षाओं (Online Class) में भाग लेना पसंद करते हैं, उन्हें ऐसा करने की अनुमति दी जा सकती है.’ सरकार ने कहा है कि ‘छात्रों को केवल अभिभावकों की लिखित सहमति के साथ स्कूलों/संस्थानों में बुलाया जा सकता है. ये पूरी तरह से माता-पिता की सहमति पर निर्भर होना चाहिए. सरकार ने इसे लेकर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) तैयार करने को कहा है.

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा जारी SOP के आधार पर स्कूलों और संस्थानों को फिर से खोलने के लिए राज्य और केंद्र शासित प्रदेश स्वास्थ्य और सुरक्षा सावधानियों के बारे में अपनी SOP तैयार करेंगे. जिन स्कूलों को खोलने की अनुमति दी जाती है, उन्हें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के शिक्षा विभागों द्वारा जारी की जाने वाली एसओपी का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा.

मंत्रालय ने कहा कि शिक्षा मंत्रालय के तहत उच्च शिक्षा विभाग, कॉलेजों और उच्च शिक्षा संस्थानों के खुलने के समय पर स्थिति के आकलन के आधार पर गृह मंत्रालय से परामर्श कर निर्णय ले सकता है. हालांकि, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विषय में पीएचडी और स्नातकोत्तर छात्रों के लिए उच्च शिक्षा संस्थानों को 15 अक्टूबर से खोलने की अनुमति होगी. विज्ञान और प्रौद्योगिकी में प्रयोगशाला और प्रायोगिक कार्यों की आवश्यकता होती है. मंत्रालय ने कहा कि कन्टेन्मेंट जोन में 31 अक्टूबर तक लॉकडाउन सख्ती के साथ लागू रहेगा. गृह मंत्रालय ने दोहराया कि राज्य केंद्र सरकार से चर्चा के बिना कन्टेन्मेंट जोन्स के बाहर कोई स्थानीय लॉकडाउन लागू नहीं करेंगे.

बता दें कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) लगाये जाने की घोषणा की थी और इसे चरणबद्ध तरीके से 31 मई तक बढ़ाया गया था. देश में ‘अनलॉक’ प्रक्रिया की शुरुआत एक जून को हुई थी और चरणबद्ध तरीके से व्यापारिक, सामाजिक, धार्मिक और अन्य गतिविधियों को फिर से खोला गया. भारत में बुधवार को कोरोना वायरस के मामलों की कुल संख्या 62,25,763 पहुंच गई, जबकि मृतकों की संख्या 97,497 हो गई है.