मुम्बई: महाराष्ट्र में कोविड-19 महामारी के कारण 10 महीने से अधिक समय तक बंद रहे विद्यालय अब पांचवीं से आठवीं कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए 27 जनवरी से खुलेंगे. राज्य की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. इस बीच बृहन्मुम्बई महानगरपालिका ने एक नये परिपत्र में कहा है कि मुंबई में सभी विद्यालय एवं महाविद्यालय ‘‘अगले आदेशों तक’’ तक बंद रहेंगे.Also Read - दिल्ली पैरेंट्स एसोसिएशन की मांग- भीषण लू को देखते हुए स्कूलों में गर्मी की छुट्टी घोषित की जाए

वैसे इस माह की शुरूआत में कुछ भागों में वहां की कोविड-19 स्थिति के आधार पर नौंवी से 12वीं कक्षाओं तक के विद्यालय एवं जूनियर कॉलेज खुल गये थे. मंत्री ने कहा, ‘‘मैंने मुख्यमंत्री को सूचित किया है कि विद्यालय पांचवीं से आठवीं तक की कक्षाओं के लिए 27 जनवरी से खोले जा सकते हैं.’’ Also Read - किसी खास दुकान से किताबें-यूनिफॉर्म खरीदने को बाध्य नहीं कर सकेंगे दिल्ली के प्राइवेट स्कूल, सिसोदिया का ऐलान

गायकवाड़ ने बताया कि जिलाधिकारियों, निगम आयुक्तों एवं जिला सिविल सर्जन समेत स्थानीय अधिकारियों को विद्यालय एवं महाविद्यालय खोलने का निर्णय लेने से पहले जमीनी स्थिति का मूल्यांकन करना होगा. Also Read - केरल: स्‍कूल के पादरी को 18 साल की कड़ी सजा, 4 टीनेजर स्‍टूडेंट्स के यौन शोषण का केस का फैसला

Himachal pradesh School Reopening

नए कोरोनावायरस मामलों की संख्या में गिरावट के साथ, गर्मियों में बंद होने वाले हिमाचल के स्कूलों में 1 फरवरी से और सर्दियों में बंद होने वाले स्कूलों में 15 फरवरी से कक्षाओं का संचालन होगा. इस संबंध में एक निर्णय यहां मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया.

ग्रीष्मकालीन विद्यालयों में कक्षा 5 और 8 से 11वीं तक एक फरवरी से नियमित कक्षाएं होंगी. इसी तरह, पहाड़ी राज्य में आईटीआई और पॉलिटेक्निक और इंजीनियरिंग कॉलेज 1 फरवरी से फीजिकल कक्षाएं फिर से शुरू करेंगे.

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि अन्य सभी सरकारी कॉलेज एसओपी का पालन करके शीतकालीन अवकाश के बाद 8 फरवरी से नियमित कक्षाओं को फिर से खोलेंगे. स्कूल प्रबंधन अपने संबंधित परिसरों के भीतर फेस मास्क, सैनिटाइजर और सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित करेगा.