School Not Reopen From September 21: : तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच क्या फिर से स्कूल दोबारा खुलेंगे (Schools Reopen) या नहीं यह एक बड़ा सवाल बन गया है. अनलॉक 4.0 में केंद्र सरकार की गाइडलाइन में 21 सितंबर से सीनियर क्लासेस यानी 9वीं और 12वीं की कक्षाएं फिर से शुरू करने की अनुमति मिल गई है, लेकिन पैरेंट्स अपने बच्चों को लेकर काफी चिंतित हैं. जहां एक ओर स्कूल प्रशासन स्कूल को दोबारा खोलने के लिए तैयारियों में जुट गया है वहीं कोरोना के बढ़ते मामले अभिभावकों को परेशान कर रहे हैं. Also Read - फीस न भरने पर प्राइवेट स्कूल ने काटा इस राज्य के शिक्षा मंत्री की नातिन का नाम, जानें पूरा मामला...

केंद्र सरकार की तरफ से गाइडलाइन (School Reopening Guideline) जारी होने के बाद अब स्कूल खोलने को लेकर पूरी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की है. यूपी में 21 सितंबर से स्कूल दोबारा खोले जाने थे. लेकिन अब ऐसी खबरे सामने आ रही हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार ने फिलहाल 21 सितंबर से स्कूल कॉलेज खोलने के निर्णय को टाल दिया है. पत्रिका वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा विभाग ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलो को ध्यान में रखते हुए 21 सितंबर से स्कूल न खोलने का निर्णय लिया है. फिलहाल इस खबर की हमारी तरफ से पुष्टि नहीं की जा रही है. Also Read - School Reopening News: 21 सितंबर से किन राज्यों में खुलेंगे स्कूल और कहां रहेंगे बंद? जानिये हर जानकारी....

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की तरफ से 31 अगस्त को अनलॉक 4.0 की गाइडलाइन जारी की गई थी और इसमें सबसे बड़ा डिसीजन स्कूल कॉलेज को खोलने पर लिया गया था. सरकार ने 21 सितंबर से देश भर में स्कूल कॉलेज को रीओपने करने की इजाजत दी थी लेकिन सरकार ने इसके साथ यह भी कहा था कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए अभी सिर्फ नौवी और बारहवीं की कक्षा शुरू की जाएंगी. Also Read - School Reopen Latest News: दिल्ली के बाद अब इस राज्य में भी 21 सितंबर को नहीं खुलेंगे स्कूल, जानिए क्या है वजह 

फिलहाल अभी तक इस बारे में पूरी तरह से कोई संकेत नहीं मिला है कि क्या स्कूल खुलेंगे या फिर बच्चों और अभिभावकों को अभी कुछ और दिन इंतजार करना होगा. कोरोना लॉकडाउन के बाद अब बच्चों को स्कूल में पहले से काफी बदला हुआ माहौल मिलने वाला है जो शायद उन्होंने कभी पहले नहीं देखा होगा.

बच्चों को कई तरह की पाबंदियों का भी सामना करना पड़ेगा, जैसे- ग्रप में नहीं रह सकते, एक साथ कई लोग खेल नहीं खेल सकते, लगातार सोशल डिस्टेंसिंग और सफाई का ध्यान रखना पड़ेगा. इसके साथ ही बच्चों को मास्क भी पहनना पड़ेगा.

अब स्कूल में बायोमैट्रिक उपस्थित की जगह कान्टैक्ट लेस अटेंडेंस की व्यवस्था करने के साथ ही सभी कम से कम छह फीट की दूरी के साथ रहना पड़ेगा. स्कूल में किसी भी तरह के इवेंट पर रोक होगी जिससे भीड़ न इकट्ठा हो.