नई दिल्ली: उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के चलते सात मार्च तक स्कूल बंद रहेंगे क्योंकि हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में परीक्षाएं आयोजित कराने के लिए स्थिति अनुकूल नहीं है. शिक्षा निदेशालय ने शनिवार को यह घोषणा की. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने हालांकि शनिवार को स्पष्ट किया कि 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं तय कार्यक्रम के मुताबिक दो मार्च से होंगी. Also Read - लॉकडाउन: नहीं मिली एंबुलेंस, पुलिस वैन ही बना लेबर रूम, महिला ने बच्ची को दिया जन्म

  Also Read - Delhi पुलिस का कांस्टेबल Coronavirus से हुआ संक्रमित, IGI एयरपोर्ट के टर्मिनल-3 पर था तैनात

निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में स्थितियां परीक्षाओं के लिए अनुकूल नहीं हैं. छात्रों की मनोदशा भी तनावपूर्ण होगी जिससे उनकी परीक्षा की तैयारियां भी प्रभावित होंगी. अधिकारी ने कहा कि सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त और निजी स्कूल उत्तर पूर्वी जिले में सात मार्च तक छात्रों के लिए बंद रहेंगे. हालांकि प्रधानाचार्य और सभी कर्मी समान्य रूप से काम करते रहेंगे. वार्षिक परीक्षा के लिये जल्द ही नए कार्यक्रम का ऐलान किया जाएगा. सांप्रदायिक हिंसा की वजह से उत्तर पूर्वी दिल्ली में मंगलवार से ही स्कूल बंद हैं.

उत्तर पूर्वी दिल्ली में भी सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं दो मार्च से
सीबीएसई ने उत्तर पूर्वी दिल्ली और पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाकों में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को 29 फरवरी तक स्थगित किया था. सीबीएसई की प्रवक्ता रमा शर्मा ने कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में भी सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं दो मार्च से तय कार्यक्रम के मुताबिक होंगी. इस बारे में बोर्ड ने उच्च न्यायालय में हलफनामा दायर किया था और अदालत ने पुलिस को निर्देश दिया था कि वो इन इलाकों में छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के साथ ही सभी आवश्यक प्रबंध करे.