नई दिल्ली: भारत और चीनी सेना के बीच बीते कई महीनों से LAC पर तनाव बना हुआ है. PLA की तैयारियों की बात करें तो चीनी सेना सर्दी के मौसम में भी सीमा पर तैनात रहने को लेकर टेंट लगाने लगी है. ऐसे में भारतीय सेना की तरफ से भी तैयारियां पूरी हैं. लेकिन अब दोनों देशों के शीर्ष नेता यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग का आमना सामना होने वाला है. Also Read - भारत की मेजबानी में 30 नवंबर को एससीओ नेताओं की बैठक में भाग लेंगे चीन के प्रधानमंत्री

दोनों देशों के नेता संघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) की बैठक में शामिल होने जा रहे हैं. इस बाबत भारतीय विदेश मंत्रालय ने पुष्टि करते हुए कहा कि SCO के 20वें सम्मेलन में भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुआई करेंगे. वैसे दोनों देशों के बीच किसी तरह की द्विपक्षीय बातचीत का कोई कार्यक्रम नहीं है लेकिन सीमा पर तनाव के बाद पहली बार ऐसा होगा जब दोनों देशों के शीर्ष नेता एक ही मंच पर एक साथ रहेंगे. Also Read - जी20 शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदी- बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के प्रयासों से महामारी से उबर सकेंगे

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी इस काउंसिल की बैठक में भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुआई करेंगे. बता दें कि इस बार की SCO काउंसिल की बैठक की अध्यक्षता रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन कर रहे हैं. हालांकि यह बैठक वर्चुअली होगी लेकिन दुनिया की निगाहें इस बैठक को लेकर टिकी हुई हैं. बता दें कि SCO में 8 देश- भारत, चीन, रुस, कजाखिस्तान, किर्गिस्तान, पाकिस्तान, तजाकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं. Also Read - Brics Summit: LAC पर तनातनी के बीच आज फिर 'आमने-सामने' होंगे PM मोदी और शी चिनफिंग