श्रीनगर। कश्मीर के पंपोर पुलिस स्टेशन से एके 47 के साथ गायब हुए स्पेशल पुलिस अफसर की तलाश तेज कर दी गई है. एसपीओ इरफान अहमद डार बुधवार सुबह से ही एके 47 के साथ लापता हो गए जिससे पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया. अब पुलिस जोर शोर से उनकी तलाश में जुटी हुई है. इस बीच हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने दावा किया है कि डार ने उसके संगठन को ज्वाइन कर लिया है.

हिजबुल के प्रवक्ता बुरहान-उद्दीन ने स्थानीय समाचार एजेंसी को बताया कि इरफान अहमद डार समूह में भर्ती हो गया है. प्रवक्ता ने कहा, पुलवामा जिले के नेहामा काकापोरा का रहने वाला एपीओ अहमद डार जो अपनी राइफल लेकर फरार हो गया था, वह हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया है.

पुलिस स्टेशन से निकलते ही लापता

सुरक्षा बलों ने इरफान डार की तलाश में ऑपरेशन शुरू कर दिया है. पंपोर पुलिस स्टेशन छोड़ने के साथ ही वह लापता हो गया था. इस बीच हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने ये दावा किया है कि डार उसके संगठन में शामिल हो गया है. इससे पहले कल शाम सुरक्षाबलों ने जैश ए मोहम्मद के चार सक्रिय सदस्यों को सोपोर से गिरफ्तार किया.

विशेष जानकारी के आधार पर पुलिस और सीआरपीएफ ने मंगलवार शाम सोपोर के फ्रूट मंडी क्रॉसिंग में संयुक्त तलाशी अभियान चलाया और जैश के चार सदस्यों को गिरफ्त में लिया. वहीं, हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने एसपीओ इरफान डार के उसके संगठन में शामिल होने का दावा कर चौंका दिया.

सेना का अभियान जोरों पर

बता दें कि इन दिनों सेना ने घाटी में तलाशी अभियान तेज कर दिया है. रमजान के दौरान एकतरफ सीजफायर के दौरान सेना का अभियान बंद था. वहीं, जम्मू कश्मीर सरकार गिरने के बाद राज्य में राज्यपाल शासन लागू है और सेना बिना रोकटोक अपने अभियान में जुटी हुई है. लेकिन एसपीओ के गायब होने से सुरक्षाबलों में चिंता है. इसी महीने आतंकियों ने सेना के जवान औरंगजेब को अगवा कर उसकी हत्या कर दी थी. इसी दिन आतंकियों ने श्रीनगर में दिनदहाड़े राइजिंग कश्मीर के एडिटर शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या कर दी थी.