नई दिल्‍ली: कर्नाटक में मंगलवार को भी सियासी संकट गहराया हुआ है. अभी तक अल्‍पमत के संकट से जूझ रही कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार को लेकर स्थिति साफ नहीं हो सकती है. राज्‍य में गहराते राजनीतिक संकट के बीच अशांति की आशंका के मद्देनजर बेगुलुरु पुलिस प्रशासन ने मंगलवार से बुधवार तक धारा 144 लागू कर दी है. बेंगलुरु पुलिस कमिश्‍नर आलोक कुमार ने कहा, आज और कल हम पूरे शहर में धारा 144 लागू कर रहे हैं. सभी पब, शराब की दुकानें 25 जुलाई तक बंद रहेंगी. अगर किसी को उल्‍लंघन करते हुए पाया गया तो उन्‍हें दंडित किया जाएगा. बता दें कि विधानसभा अध्‍यक्ष सुप्रीम कोर्ट को आज शाम 6 बजे तक विश्‍वासमत पर वोटिंग कराने की बात कह चुके हैं.

कर्नाटक में गठबंधन सरकार से समर्थन वापस लेने वाले दो निर्दलीय विधायकों की कथित मौजूदगी और उनके भाजपा से जुड़ने की खबरों के बाद यहां एक अपार्टमेंट में कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के पहुंचने पर निषेधाज्ञा लागू करनी पड़ी.

राजनीतिक उथल-पुथल के बीच पुलिस ने शहर में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की है और मंगलवार की शाम छह बजे से बृहस्पतिवार की सुबह छह बजे तक शराब की बिक्री पर रोक लगा दी है. दो निर्दलीय विधायकों आर शंकर और एच नागेश ने जुलाई की शुरूआत में सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपार्टमेंट में घुसने की कोशिश की. वहां पुलिस के पहुंचने के बाद पार्षद पद्मनाभ रेड्डी के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए.

पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने कहा, इस बात की पूरी संभावना है कि विरोध, प्रदर्शन और रैलियां होंगी, जिससे राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के बीच झड़पें हो सकती हैं. उन्होंने कहा कि इस बात की भी आशंका है कि असमाजिक तत्व शराब पीकर माहौल को खराब कर सकते है. उन्होंने कहा कि मंगलवार की शाम से बृहस्पतिवार की सुबह तक शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.