अंबाला: फ्रांस से पांच राफेल लड़ाकू विमानों के आने के पहले मंगलवार को अंबाला वायु सेना केंद्र के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गयी और निषेधाज्ञा लागू की गयी है. वहां वीडयोग्राफी और फोटो खिंचने पर रोक लगा दी गई. Also Read - Lockdown In Maharashtra: महाराष्ट्र में 15 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, गाइडलाइंस के साथ जारी रहेगी सख्ती

एक अधिकारी ने बताया कि अंबाला जिला प्रशासन ने वायुसेना केंद्र के तीन किलोमीटर के दायरे में लोगों के ड्रोन उड़ाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है . उपायुक्त अशोक शर्मा ने एक आदेश में कहा कि धुलकोट, बलदेव नगर, गरनाला और पंजखोड़ा समेत वायु सेना के आसपास के गांवों में धारा 144 लगा दी गयी है जिसके तहत चार या अधिक लोगों के जमा होने पर प्रतिबंध है. Also Read - Maharashtra Corona Virus: कोरोना के कारण बंद हुए शिर्डी साईं मंदिर के द्वार, जानिए कब खुलेंगे

वायुसेना के एक अधिकारी के मुताबिक लड़ाकू विमानों ने सोमवार को उड़ान भरी थी और बुधवार को यह वायु सेना केंद्र पर पहुंचेगा. इस खेप में एक सीट वाले तीन लड़ाकू विमान और दो सीटों वाले दो विमान हैं. Also Read - Section 144 Imposed in Rajasthan: राजस्थान में धारा 144 की बढ़ाई गई अवधि, कोरोना पर सरकार अलर्ट

अंबाला के उपायुक्त ने कहा कि निषेधाज्ञा लागू रहने के दौरान वायु सेना केंद्र की चहारदीवारी और आसपास के इलाके का वीडियो बनाने और तस्वीरें लेना प्रतिबंधित है . हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि अंबाला पुलिस ने आवश्यक कदम उठाए हैं .

अंबाला शहर के भाजपा विधायक असीम गोयल ने राफेल विमानों के स्वागत के लिए लोगों को बुधवार को अपने घरों में शाम सात-साढ़े सात बजे के बीच मोमबत्ती जलाने को कहा है.