जम्मू: गणतंत्र दिवस के पहले सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर एक महत्वपूर्ण सुरंग का पता लगाया है, जिसका इस्तेमाल आतंकवादियों द्वारा किए जाने का शक है. इसकी जानकारी अधिकारियों ने दी. बीएसएफ ने कहा, “विशिष्ट खुफिया सूचना के आधार पर, बीएसएफ की टुकड़ियों ने पानसर, जम्मू के इलाके में एक सुरंग-रोधी अभियान के दौरान आज (शनिवार) को 150 मीटर लंबी और 30 फीट गहरी सुरंग का पता लगाया.”Also Read - Happy Republic Day 2022 Wishes: अपने दोस्‍तों और प्रिय जनों को भेजें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं, बनाए दिन को और भी खास

बीएसएफ द्वारा सांबा, हीरानगर और कठुआ क्षेत्र में पिछले छह महीनों में पता लगाई जाने वाली चौथी और जम्मू क्षेत्र में 10 वीं सुरंग है. सुरंगों का पता लगाने के साथ बीएसएफ के जवानों ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने के लिए पाकिस्तान के डिजाइन को नाकाम कर दिया. सुरक्षा बलों द्वारा इस महीनें यह दूसरी सुरंग खोजी गई है. इससे पहले इसी सेक्टर के बोबियान गांव में 13 जनवरी को 150 मीटर लंबी सुरंग का पता लगाया गया था. Also Read - Republic Day Parade 2022: जानिए कहां और कैसे देखें गणतंत्र दिवस परेड की LIVE स्ट्रीमिंग

सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान सीमावर्ती गांवों में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में नियमित रूप से सूचनाएं मिलती रही हैं, लेकिन भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने वाले बीएसएफ के जवानों ने इन प्रयासों को नाकाम कर दिया है. Also Read - Republic Day parade में शामिल होने वालों के लिए दिल्ली पुलिस ने जारी की गाइडलाइंस, इन नियमों का करना होगा पालन

जम्मू क्षेत्र की अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सुरक्षा परिदृश्य के मद्देनजर, बीएसएफ ने पाकिस्तान की ओर से विभिन्न खतरों के आकलन के बाद कई इनिसिएटिव लिए. इस प्रक्रिया में, अंतर्राष्ट्रीय सीमा के साथ, बीएसएफ द्वारा नियमित रूप से सुरंग रोधी अभ्यास किया जाता है.