श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच रातभर हुई एक मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो स्थानीय आतंकवादी मारे गए. पुलिस के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को बताया कि सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच कुछ देर हुई मुठभेड़ के बाद सोमवार रात पुलवामा के त्राल इलाके में आतंकवाद रोधी अभियान चलाया गया. अधिकारी ने बताया कि इस दौरान शुरू हुई मुठभेड़ करीब 12 घंटे तक चली, जिसमें हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादी मारे गए. आतंकवादी जिस घर में छिपे हुए थे, वह सोमवार शाम शुरू हुई मुठभेड़ में पूरी तरह से नष्ट हो गया है. प्रशासन ने कस्बे में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है.

अधिकारी ने कहा, मारे गए आतंकवादियों की पहचान त्राल के गुलशनपुरा निवासी अदफर फयाज पर्रे और त्राल के शरीफाबाद निवासी इरफान अहमद राठर के रूप में हुई है. प्रवक्ता ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से हथियार, गोला-बारूद और अन्य सामग्री बरामद हुई है.

अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से कुछ दूरी पर फारूक अहमद मलिक नामक एक आम व्यक्ति को गोली लग गई, जिसका इलाज चल रहा है और उसकी हालत स्थिर है.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “आतंकवादियों के शव त्राल इलाके के मीर मोहल्ला इलाके से बरामद किए गए हैं. हमने उनके पास से दो एक-47 राइफलें भी बरामद की हैं. तलाशी अभियान जारी है.” आतंकवादी जिस घर में छिपे हुए थे, वह सोमवार शाम शुरू हुई मुठभेड़ में पूरी तरह से नष्ट हो गया है. प्रशासन ने कस्बे में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है.