श्रीनगर: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शोधार्थी से आतंकवादी बने मन्नान वानी समेत तीन आतंकवादियों को उत्तर कश्मीर के सीमावर्ती जिले हंदवाड़ा में एक मुठभेड़ में घेर लिया गया है. अधिकारियों ने गुरुवार को जानकारी देते हुए बताया कि हंदवाड़ा में सतगुंड में चल रही मुठभेड़ स्थल से प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों ने एक गांव की घेराबंदी कर दी है. Also Read - पाकिस्तान ने आंतकियों को दी खुली छूट, हाफिज सईद से कहा- कश्मीर में भेजो दहशतगर्द

Also Read - जम्मू-कश्मीर के शोपियां में एनकाउंटर, सुरक्षा बलों ने 2 आतंकवादियों को किया ढ़ेर

प्रेमिका के खर्चों को पूरा करने के लिए चोरी करता था गूगल का इंजीनियर, पुलिस ने ऐसे पकड़ा Also Read - Jammu & Kashmir में 2 एनकांउटर, अब तक 4 आतंकी ढ़ेर, सर्च ऑपरेशन जारी

सुरक्षा बलों को अपने ख़ुफ़िया तंत्र से गांव में मन्नान वानी समेत दो आतंकवादियों के मौजूद होने की खुफिया सूचना मिली थी. जिसके बाद सुरक्षा बलों ने उस स्थान की घेराबंदी कर दी हालांकि पाकिस्तान द्वारा की जा रही गोलाबारी के चलते अभियान में रूकावट पैदा हो रही है. पूरे इलाके की इन्टरनेट सेवाएं फिलहाल स्थगित कर दी गई हैं.

उन्होंने बताया कि पुलिस लगातार घोषणा करके आतंकवादियों से आत्मसमर्पण करने की अपील कर रही है. अधिकारियों ने बताया कि सुबह करीब नौ बजे गोलीबारी रुक गई जिसके बाद पुलिस ने मुठभेड़ स्थल पर तलाश अभियान शुरू किया लेकिन 15 मिनट बाद फिर से गोलीबारी शुरू होने के कारण सर्च अभियान रोकना पड़ा. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में पीएचडी का शोधार्थी वानी इस साल जनवरी में आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ था.

किसी ने हेलमेट, तो किसी ने इमोजी से चेहरा छिपाकर बांधी काली पट्टी, यूपी पुलिस ने कुछ इस तरह किया विरोध

(इनपुट एजेंसी)