नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुरुदास कामत का बुधवार की सुबह दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया. 63 साल के कामत काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे. वह दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थिति एक निजी अस्पताल में भर्ती थे. उनके निधन की जानकारी मिलते ही यूपीए चेयपर्सन सोनिया गांधी हॉस्पिटल पहुंची और दुख जताया.

बताया जा रहा है कि उन्हें कार्डियक अरेस्ट आया था. बता दें कि कामत ने मंगलवार की रात को ही देश को बकरीद की बधाई दी थी. कामत के निधन पर कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि कामत का निधन पार्टी, देश और उनके परिवार के लिए अपूरणीय छति है.

गुरुदास कामत अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्‍य भी रह चुके हैं. उन्हें राजीव गांधी का करीबी माना जाता रहा है. वह उत्‍तर-पश्चिमी मुंबई से 2009 से 2014 तक सांसद भी रहे. इससे पहले वह नॉर्थ-ईस्‍ट मुंबई सीट से 1984, 1991, 1998 और 2004 में चुने गए. वह यूपीए सरकार में केंद्रीयमंत्री भी रह चुके हैं.

कामत मूल रूप से मुंबई के कुर्ला के रहने वाले थे. उनके पिता एक ऑटोमोबाइल कंपनी में कर्मचारी थे. बिना किसी राजनैतिक बैकग्राउंडे के होने के बावजूद कामत ने छात्र राजनीति और यूथ कांग्रेस से पार्टी में अपनी पहचान बनाई. वह मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष भी रह चुके हैं.