नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री और इंदिरा गांधी के विश्वासपात्र रहे आर. के. धवन का सोमवार शाम एक निजी अस्पताल में निधन हो गया. वह 81 साल के थे. परिवार के करीबी सूत्रों ने बताया कि धवन ने शाम करीब सात बजे बी. एल. कपूर अस्पताल में अंतिम सांस ली. Also Read - सज्जन सिंह वर्मा ने लड़कियों की उम्र को लेकर दिया था विवादित बयान, अब NCPC ने भेजा नोटिस

कांग्रेस नेता को बढ़ती उम्र संबंधी परेशानियों के कारण पिछले मंगलवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आर. के. धवन को हमारी श्रद्धांजलि. उन्होंने आज अंतिम सांस ली. कांग्रेस के सिद्धांतों के प्रति उनकी निष्ठा, प्रतिबद्धता और समर्पण के लिए हमेशा याद किया जाएगा. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे. Also Read - कांग्रेस के कद्दावर नेता माधव सिंह सोलंकी का निधन, गुजरात में 4 बार रह चुके हैं मुख्यमंत्री

राजिन्दर कुमार धवन राज्यसभा के सदस्य और लंबे समय तक इंदिरा गांधी के निजी सचिव रहे थे.

आर के धवन ने अपना करियर इंदिरा गांधी के निजी सहायक के तौर पर 1962 से शुरू किया था और वह 1984 में इंदिरा की हत्या तक उनके साथ थे. वह इमरजेंसी के दौरान (1975-77) इंदिरा गांधी के सबसे खास लोगों में से एक थे. उस दौर में वह अंबिका सोनी और कमलनाथ जैसे नेताओं के साथ इंदिरा के पसंदीदा लोगों की लिस्ट में शामिल थे.

उन्होंने 75 साल की उम्र में साल 2012 में विवाह किया था. कई नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उनके निधन पर गहरा सदमा जाहिर किया है. उन्होंने ट्वीट किया, श्री आर के धवन के निधन की खबर से सदमा लगा. हालांकि, उनका इलाज चल रहा था लेकिन लगा नहीं था कि वह इतनी जल्दी चले जाएंगे.