भोपाल/छतरपुरः इस साल नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले मध्य प्रदेश में कांग्रेस का सीएम चेहरा कौन होगा, इसको लेकर पार्टी में सिरफुटैव्वल शुरू हो गया है. पिछले कुछ दिनों से राज्य में जारी पोस्टर वार के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी ने कहा है कि मुख्यमंत्री पद के लिए पार्टी का चेहरा सिर्फ ज्योतिरादित्य सिंधिया ही हो सकते हैं, उनका विकल्प कोई और नहीं हो सकता. Also Read - Dussehra 2020: संतान प्राप्ति के लिए यहां की जाती है रावण की पूजा, प्रतिमा के आगे घूंघट में जाती हैं औरतें

मध्य प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस में समन्वय के लिए बनाई गई समन्वय समिति में चतुर्वेदी सदस्या हैं. गौरतलब है कि कांग्रेस नेतृत्व ने सिंधिया को चुनाव प्रचार समिति का प्रमुख जबकि वरिष्ठ नेता कमलनाथ को प्रदेशाध्यक्ष की जिम्मेवारी दी है. नेतृत्व ने अभी तक सीएम चेहरा कौन होगा इसका खुलासा नहीं किया है. उसका कहना है कि पार्टी सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी. Also Read - Bihar Election 2020: जोश में आए नेताजी, जीत के लिए की भीष्म प्रतिज्ञा और फाड़ डाला कुर्ता

राज्य में कांग्रेस की स्थिति और आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर आईएएनएस से बातचीत में चतुर्वेदी ने कहा, “इस प्रदेश में कांग्रेस को सत्ता में लाना है तो सिंधिया को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाना होगा, पिछले आठ साल से यही बात कहता आ रहा हूं और आज भी उसी पर कायम हूं. सच्चाई यही है कि कांग्रेस को राज्य में सरकार बनाने के लिए सिंधिया को चेहरा बनाना ही होगा.” Also Read - शिवराज सिंह चौहान ने कहा- कमलनाथ मध्य प्रदेश के लोगों को प्यार करना सीखें

युवा हैं सिंधिया
चतुर्वेदी ने एक सवाल के जवाब में कहा, “सिंधिया युवा है, उनकी कार्यशैली और राजनीति पूरी तरह पारदर्शी है, वे निर्विवाद नेता हैं, उनमें युवाओं से लेकर बुजुर्ग पीढ़ी तक को जोड़ने की क्षमता है, प्रदेश की बहुसंख्यक आबादी उन्हें भावी मुख्यमंत्री के तौर देख भी रही है, लिहाजा पार्टी को उन्हें मुख्यमंत्री का उम्मीदवार घोषित करने में ज्यादा देरी नहीं करनी चाहिए.”

कांग्रेस और गुटबाजी एक दूसरे का पर्याय होने के सवाल पर चतुर्वेदी ने साफ किया कि कांग्रेस के तमाम नेताओं ने आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत का संकल्प लिया है, पार्टी में किसी तरह की गुटबाजी नहीं है, सभी मिलकर काम कर रहे है, हर कोई चाहता है कि कांग्रेस सत्ता में लौटे, लिहाजा कोई पार्टी को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहता.

सोशल मीडिया पर वायरल पोस्टर.

सोशल मीडिया पर वायरल पोस्टर.

यहां बता दें कि चतुर्वेदी और समन्वय समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह के बीच राजनीतिक अदावत बीते तीन दशकों से चली आ रही है, उसके बावजूद दोनों नेताओं ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं में समन्वय बनाने के लिए कई इलाकों का एक साथ दौरा किया है. चतुर्वेदी कहते है कि नेताओं के बीच आपसी मतभेद हो सकते हैं, मगर वर्तमान में सभी एकजुट हैं, और सभी की एक ही प्राथमिकता है कि कांग्रेस को जिताना है.

इस बीच सोशल मीडिया पर कई पोस्टर वायरल हो रहे हैं. इसमें सिंधिया और कमलनाथ के सर्मथक अपने-अपने नेता को सीएम के रूप में प्रोजेक्ट कर रहे हैं. एक पोस्टर में नारा दिया गया है- देश में चलेगी विकास की आंधी, प्रदेश में सिंधिया, देश में राहुल गांधी. दूसरी तरफ एक और पोस्टर वायरल हुआ है जिसमें नारा दिया गया है- राहुल भैया का संदेश, कमलनाथ संभालो प्रदेश.

(इनपुट आईएएनएस)