chairman-all-parties-hurriyat-conference-syed-ali-shah-geelani-addressingAlso Read - लुटेरे ने भारतीय मूल के CEO को गोली मारी, 10 हजार डॉलर लूटने के लिए 80 किमी पीछा कर घर में हत्‍या की

कश्मीर के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी पासपोर्ट हासिल करने के हेतु से शुक्रवार को पासपोर्ट कार्यालय में अधिकारियों के समक्ष पेश हुए। गिलानी ने अपनी यात्रा को लेकर सभी औपचारिकता को पूरा किया। उन्हें आज पासपोर्ट हासिल करने के लिए अपने आप को भारतीय घोषित करना ही पड़ा। पिछले कई दिनों से इस बात को लेकर देशभर में बवाल मचा हुआ था। गिलानी ने हालांकि कहा की वह ऐसा मजबूरी में कर रहे हैं। Also Read - 97 फीसदी भारतीय अगले साल करियर में चाहते हैं बदलाव: ओरेकल स्टडी

अट्ठासी साल के अलगाववादी नेता अपनी बीमार बेटी को देखने के लिए साउदी अरब जाना चाहते हैं मगर पासपोर्ट न होने की वजह से उन्हें यात्रा करने के लिए वीज़ा नहीं प्राप्त होरहा था। Also Read - Vaccine Century: कोरोना टीका बनाने वाली सात भारतीय कंपनियों के निर्माताओं से मिले पीएम मोदी, कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा

गिलानी निर्धारित समय पर पासपोर्ट कार्यालय पहुंचे और उन्होंने प्रक्रिया के अनुसार काउंटर पर अपने बायोमेट्रिक डाटा-अंगुलियों के निशान एवं इरिस स्कैन दिये।

अलगाववादी नेता ने राष्ट्रीयता के खाने में ‘भारतीय’ उल्लेख किया मगर पासपोर्ट कार्यालय के बाहर उन्होंने इससे विपरीत बयान दिया। उन्होंने कहा, ‘मैं जन्मजात भारतीय नहीं हूं। यह एक मजबूरी है।’